VIDEO: अयोध्या को ये सौगात देंगे मोदी और योगी

अयोध्‍या (31 मई): 2019 का महासमर जीतने के लिए बीजेपी जांचे परखे फार्मूले पर ही भरोसा कर रही है। अयोध्या पर सौगातें बरसाई जा रही हैं। राजनीतिक जमातों में खबरें तो यहां तक हैं कि योगी अयोध्या से चुनकर विधानसभा जा सकते हैं। यही वजह है कि सिर्फ दो महीने में मोदी-योगी सरकार ने अयोध्या के लिए कई बड़े ऐलान कर दिए हैं।

पिछली सरकार में अयोध्या में होने वाली रामलीला सियासत की भेंट चढ़ गई थी। देश और दुनिया में मशहूर इस रामलीला को अखिलेश सरकार की बेरुखी का शिकार होना पड़ा था। गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज होने से ऐन पहले रामलीला बंद कर दी गई, लेकिन यूपी की सत्ता बदली और योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बने, तो उन्होंने अयोध्या की मशहूर रामलीला को फिर से शुरू करने का ऐलान कर दिया।

केंद्र सरकार अयोध्या का कायाकल्प करने के लिए कई योजनाएं बना रही है। मोदी सरकार ने अयोध्या का नाम उन दस शहरों की लिस्ट में शामिल किया है, जहां पर्यटकों को लुभाने के लिए फाइव स्टार होटल, हाईटेक रेलवे स्टेशन, अयोध्या में ज्यादा ट्रेनों का ठहराव, बेहतर रोड और मॉर्डन इन्फ्रास्ट्रक्टर बनाया जाएगा।

मोदी सरकार भी बीते कुछ महीनों में अयोध्या के लिए कई प्रोजक्ट लागू कर चुकी है। रामायण सर्टिक और रामायण म्यूजियम जैसे प्रोजक्ट को हरी झंडी मिल चुकी है। खबर ये भी है कि बीजेपी और संघ के कुछ बड़े नेता चाहते हैं कि योगी आदित्यनाथ अयोध्या से चुनाव लड़ें। तर्क ये है कि इससे लोगों में बीजेपी की हिंदूवादी छवि का संदेश जाएगा और राममंदिर के लिए आम सहमति बनाने में मदद मिलेगी।