रुढ़िवादियों से लड़कर देश की सबसे कम उम्र की महिला पायलट बनी आयशा

नई दिल्ली (8 मार्च): आयशा अज़ीज देश की सबसे युवा महिला पायलट हैं, जिन्हें 21 साल की उम्र कमर्शल लाइसेंस मिल गया। अपने सपनों की उड़ान के लिए आयशा ने कड़ी मेहनत की और आसमान में कामयाबी का परचम लहराया।

आयशा अज़ीज़ कश्मीर की पहली महिला पायलट हैं, जहां बिना हिजाब महिलाओं का बाहर निकलना गुनाह समझा जाता है, लेकिन आयशा ने इसे भी तोड़ा। जब आयशा के सबसे कम उम्र के स्टूडेंट पायलट बनने की खबर में आई तो तमाम लोगों ने जश्न मनाया, लेकिन कश्मीर में कुछ रुढ़िवादी लोगों को ये ठीक नहीं लगा।

आयशा के हौंसले तोड़ने की कोशिश की गई, लेकिन आयशा अपनी उड़ान भरती रहीं। आयशा को बचपन से ही पायलट बनने का  सपना था। अजीज जब छोटी थीं तो वो अपनी मां के साथ श्रीनगर से हवाई यात्राएं करती थीं। पायलट उन्हें बेहद आकर्षित करते थे। जैसे-जैसे बड़ी हुईं वैसे-वैसे एविएशन में उनकी दिलचस्पी बढ़ती गई और देश की सबसे कम उम्र की महिला पायलट बन गईं। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर न्यूज़ 24 आयशा अज़ीज़ को सलाम करता है।

वीडियो: