मुंबई: अगर दो से अधिक बच्चे हैं, तो आपको यहां नहीं मिलेगी जगह

नई दिल्ली ( 13 फरवरी ):  कोऑपरेटिव सोसायटीज के असिस्टेंट रजिस्ट्रार ने एक ऐसा फैसला सुनया है जिसकी चर्चा काफी लंबे समय तक हो सकती है और उसका असर पूरे शहर पर हो सकता है। असिस्टेंट रजिस्ट्रार ने मुंबई सेंट्रल हाउसिंग सोसायटी मैनेजिंग कमिटी के दो लोगों को दो से ज्यादा बच्चे होने की वजह से पद के लिए अयोग्य करार दिया है। दिलचस्प बात यह है कि दोनों को एक रेजिडेंट की शिकायत के आधार पर पद से हटाया गया, जिसका बच्चों की संख्या से कोई लेना-देना नहीं।

न्यू ग्रीन चैंबर्स में रहने वाले हसन अली पर मुकदमा का आरोप था कि सोसायटी के कोषाध्यक्ष समीर शाह और मैनेजिंग कमिटी के सदस्य इमरान खान सोसायटी मेंबर्स की इजाजत के बगैर रीकंस्ट्रक्शन का काम करवा रहे हैं।

हसन की शिकायत के जवाब में ई वार्ड के असिस्टेंट रजिस्ट्रार कुमार चव्हाण ने महाराष्ट्र कोऑपरेटिव सोसायटीज ऐक्ट, 1960 के उस नियम को लागू करते हुए दोनों को पद से हटा दिया, जिसके तहत मैनेजमेंट कमिटी में दो से ज्यादा बच्चों वाले लोगों का चुनाव न किए जाने का प्रावधान है। हां, उन्हें नॉमिनेट या नियुक्त जरूर किया जा सकता है।

चव्हाण के फैसले के तहत इस बात का भी जिक्र किया गया कि बीते वर्ष 23 नवंबर को खान और शाह को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था, लेकिन दोनों का कोई जवाब नहीं आया।

दोनों को एक और मौका देते हुए नोटिस की कॉपियां फेडरेशन ऑफ कोऑपरेटिव सोसायटीज को भेज दी गईं लेकिन दोनों का कहना है कि उन्हें ऐसा कोई नोटिस नहीं मिला।