ऑडी के ग्राहकों को निराश कर सकती है ये खबर


नई दिल्ली (22 जुलाई):
अगर आप जर्मनी की ऑटो निर्माता कंपनी ऑडी की कारों को पसंद करते हैं तो यह खबर आपको थोड़ा निराश कर सकती है। क्योंकि कंपनी ने अमेरिका और कनाडा को छोड़कर दुनियाभर से अपनी 8.5 लाख कारों को वापस मंगाने की घोषणा की है।

दरअसल, एक डीजल एमिशन स्कैंडल में नाम आने के बाद फॉक्सवैगन की सब्सिडरी कम्पनी ऑडी ने EU5 और EU6 डीजल इंजन कारों के अपने ग्राहकों के लिए रेट्रोफिट कार्यक्रम शुरू किया है। इसी तरह के इंजन वाली पोर्शा और फॉक्सवैगन कारों को भी इस कार्यक्रम के तहत फ्री सर्विस मिलेगी।

जर्मनी की फेडरल मोटर ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी से मशविरा लेकर गाड़ियों को वापस मंगाने का फैसला किया। कंपनी डीजल गाड़ियों से होने वाले एमिशन में सुधार लाने के अलावा भविष्य में इनका इस्तेमाल बरकरार रखना चाहती है। ऑडी के मुताबिक वह अपने इस कार्यक्रम में शहरी इलाकों पर ज्यादा ध्यान दे रही है। ऑडी पर डीजल वाहनों में एमिशन की जांचों को चकमा देने के लिए अवैध सॉफ्टवेयर प्रयोग करने के आरोप लगे हैं।

इसके अलावा गाड़ियों के उत्सर्जन से जुड़ी समस्या की वजह से एक और जर्मन कार निर्माता कंपनी एजी ने मंगलवार को कारों को वापस मंगाने का फैसला किया था। एजी ने पूरे यूरोप से मर्सिडीज बेंज ब्रैंड की 30 लाख कारों को वापस मंगाने की घोषणा की थी। डीजल कारों के लिए कंपनी के इस व्यापक कार्यक्रम में करीब 16.5 अरब रुपये खर्च होने की बात कही जा रही है।