वनडे का बदला लेने उतरेगी टीम इंडिया

नई दिल्‍ली (25 जनवरी): पांच वनडे मैचों की सीरीज को 1-4 से गंवाने के बाद भारतीय टीम नए चेहरों के साथ मंगलवार को तीन टी-20 मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में कंगारुओं से बदलना लेने उतरेगी।

मेहमान टीम के लिए टी-20 सीरीज से पहले निश्चित ही यह जीत मनोबल ऊंचा करने वाली मानी जा सकती है। लेकिन इसके लिए टीम इंडिया को अपनी गलतियों में सुधार दिखाना होगा। टी-20 टीम में वापसी कर रहे स्टार आलराउंडर युवराज सिंह, हरभजन सिंह, हार्दिक पांड्या, सुरेश रैना और आशीष नेहरा टीम में शामिल नये चेहरे हैं और अच्छा अनुभव भी रखते हैं।

वनडे सीरीज से बाहर रखे गये रैना भी वापसी कर रहे हैं लेकिन यह आस्ट्रेलिया की परिस्थितियों के अनुकूल कितनी जल्दी ढल पाएंगे यह देखना होगा। किसी भी टीम के लिये टी-20 प्रारूप फिलहाल सबसे अहम है क्योंकि इस वर्ष एशिया कप और इसके बाद भारत की मेजबानी में आईसीसी ट्वेंटी 20 विश्वकप होना है और इसलिये अंतरराष्ट्रीय टी-20 सीरीज में बेहतर प्रदर्शन करना महत्वपूर्ण भी है। 5वें वनडे से टीम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले मध्यम तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के पास भी खुद को साबित करने का मौका रहेगा।

दूसरी ओर ऑस्ट्रेलियाई टीम कप्तान स्टीवन स्मिथ के नेतृत्व में वनडे सीरीज जीतने के बाद पूरे आत्मविश्वास के साथ उतरेगी और मेजबान टीम के पास घरेलू परिस्थितियों का भी फायदा होगा। जबरदस्त फार्म में चल रहे सीनियर खिलाड़ी डेविड वार्नर, आरोन फिंच, अनुभवी गेंदबाज जेम्स फॉकनर और खुद कप्तान स्मिथ टीम में वनडे के प्रदर्शन को दोहराने के लिए उतरेंगे। इसके अलावा वनडे टीम से बाहर रहे आलराउंडर शेन वाटसन भी वापसी कर रहे हैं और अपनी उपयोगिता साबित करने के लिये बेकरार होंगे। बिग बैश टी-20 लीग में अच्छे प्रदर्शन की बदौलत शॉन टेट को भी चयनकर्ताओं ने टी-20 के लिए वापिस बुलाया है और ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजी आक्रमण को धार देंगे।