ऑडियो टेप मामला: नीतीश ने डीजीपी को दिए जांच के ऑर्डर


नई दिल्ली(7 मई): एक अंग्रेजी न्यूज चैनल की खबर ने बिहार की राजनीति में तहलका मचा दिया है। शनिवार को चैनल ने एक ऑडियो क्लिप जारी की, जिसमें लालू प्रसाद और जेल में बंद पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के बीच बातचीत है। टेप सामने आने के बाद बीजेपी नेताओं ने नीतीश सरकार पर हमला बोला। पार्टी के नेता राजभवन पहुंचे।


- इससे पहले सीएम नीतीश कुमार ने पार्टी प्रवक्ताओं और फिर डीजीपी पीके ठाकुर के साथ बैठक की। नीतीश ने ठाकुर को टेप की की जांच का ऑर्डर दिया है। वहीं 

इस मामले पर लालू ने चुप्पी साध ली है। शनिवार को उनके सरकारी आवास का गेट पूरे दिन बंद रहा।


- जेडीयू की ओर से पार्टी जनरल सेक्रेटरी केसी त्यागी ने बयान जारी कर केंद्र सरकार को घेरा। आरजेडी की ओर से सीनियर लीडर जगदानंद सिंह का बयान आया।


- लालू प्रसाद या फिर उनके मंत्री बेटों की ओर से इस मसले पर कुछ भी नहीं कहा गया है।


- चैनल की ओर से जारी टेप के मुताबिक, शहाबुद्दीन ने सीवान जेल में रहते लालू प्रसाद से फोन पर बात की। यह टेप 15 अप्रैल 2016 का है। बातचीत में रामनवमी का जिक्र है।


- टेप जारी होने के बाद लालू के सरकारी आवास के बाहर सन्नाटा दिखा। वहां पर पूर्व सांसद जगदानंद सिंह नजर आए। लालू समेत उनके पूरे परिवार ने मीडिया से दूरी बनाए रखी।


- हालांकि मीडिया के लोग पूरे दिन उनके घर के सामने डेरा डाले रहे। लालू ने शाम में लोगों से मिलने का प्रोग्राम भी स्थगित कर दिया। परिवारवालों ने आने-जाने के लिए दूसरे गेट का इस्तेमाल किया।