सिख धर्म प्रचारक संत रंजीत सिंह ढढरियांवाला पर हमला

राजेश गौतम, लुधियाना (18 मई): बीती रात लुधियाना में सिख धर्म के बड़े प्रचारक संत रंजीत सिंह ढढरियांवाला पर जानलेवा हमला हुआ। संत रंजीत सिंह अपने काफिले के साथ समागम में जा रहे थे, तभी रास्ते में साउथ सिटी के पास उन पर फायरिंग हो गई। इस फायरिंग में संत रंजीत सिंह घायल हुए हैं, वहीं उनके गाड़ी में बैठे एक दूसरे संत की मौत हो गई। इस वारदात के बाद संत रंजीत सिंह में एक वीडियो के माध्यम से अपने भक्तों से शांति की अपील की है।

बताया जा रहा है कि रंजीत सिंह लुधियाना में एक समागम में हिस्सा लेने जा रहे थे। इस दौरान जैसे ही काफिला लुधियाना के साउथ सिटी इलाके से गुजरा तो बीच में एक पियाऊ लगाया गया था। कहा जा रहा है कि ये पियाऊ उन्ही हमलावरों ने लगाया था और जैसे ही रंजीत सिंह का काफिला पियाऊ के पास पहुंचा हमलावरों ने अंधाधुंध फायरिगं कर दी।

पुलिस के मुताबिक हमलावरों ने पहले संत की गाड़ी के टायरों पर गोलियां चलाई। इसके बाद शीशों को निशाना बनाया गया। हमलावरों ने फायरिंग के बाद खालिस्तान के समर्थन में नारे लगाए। पुलिस को मौके से 7-8 खाली कारतूस मिले हैं। वारदात के बाद पूरे शहर में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया है। हमले में घायल हुए संत रंजीत सिंह ढढरियां वाला को किसी सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया है।

संत रंजीत सिंह ढढरियां वाला सिख धर्म के बड़े प्रचारक हैं। पंजाब में उनके लाखों श्रद्धालु हैं। अपने गुरु पर हमले की खबर से उनके श्रद्धालुओं में गुस्सा भी है। सवाल ये है कि संत रंजीत सिंह पर ये हमला खालिस्तान की मांग कर रहे उग्रवादियों ने किया है और अगर ये सच है तो क्या पंजाब में एक बार फिर खालिस्तान के नाम पर हिंसा फैलाने की कोशिश की जा रही है।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=GGLVWlSX_dw[/embed]