यमन में हुए हमले में 4 भारतीय नर्सों की मौत की विदेशमंत्री ने की पुष्टि

नई दिल्ली (4 मार्च): यमन के दक्षिणी शहर अदन में शुक्रवार को एक ओल्ड एज होम पर हमला हुआ। जिसमें 16 लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों में चार भारतीय नर्से शामिल हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, बताया जा रहा है कि चार हमालावरों ने ओल्ड एज होम पर अंधाधुंध फायरिंग की। यहां के सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि हमलावर शुक्रवार को ओल्ड एज होम में घुसे और उसने बुजुर्गों और नर्सों को अलग हो जाने को कहा। हमलावरों ने बुजुर्गों के हाथ बांधकर उनपर भी फायरिंग की। यह होम अदन के शेख ओस्मान जिले में है।

हमलावरों ने यहां के सिक्योरिटी गार्ड की भी हत्या कर दी। एक सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि हमले में आंतकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) का हाथ हो सकता है, जो पिछले कुछ महीनों में यहां अपनी पकड़ मजबूत कर चुका है। हालांकि, किसी भी संगठन ने अभी तक हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

विदेश मंत्री ने खतरनाक इलाकों में रहने वाले भारतीयों से की वापस आने की अपील

केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर इस घटना की पुष्टि की है। उन्होंने कहा, "यमन में चार भारतीय नर्सें आतंकी हमले में मारी गई हैं। मुझे खेद है कि नर्सें हमारे दिशानिर्देशों को दरकिनार करके वापस रहने गईं। मैं सभी भारतीयों से अनुरोध करती हूं, जो भी ऐसे खतरनाक इलाकों में रह रहे हैं, कि वे वापस भारत आ जाएं।"