हैक हो सकता है ATM, खतरे में आपका पैसा


नई दिल्ली(17 मई): दुनियाभर के 99 देश सािबर हमले से प्रभावित है। इस हमले को रोकने में कई संस्थानों का कामकाज ठप हो गया। ये साइबर हमला ‘मलिसस रैनसमवेयर’ के कारण हुआ। दुनियाभर में हुए इस अटैक के बाद अब फिर से ये खतरा मंडरा गया है।


- हाल ही में विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि इस हफ्ते रैनसमवेयर के और भी मामले सामने आ सकते हैं।


- आपको बता दें कि रैनसमवेयर एक ऐसा प्रोग्राम है जो कंप्यूटर की किसी फाइल को लॉक कर देता है और फिर बिना फिरौती अदा किए आप इस मुश्किल से छुटकारा नहीं पा सकते।


- यूरोपियन यूनियन की पुलिस यूरोपोल के मुताबिक रैनसमवेयर नई चीज़ है, लेकिन ‘वानाक्राई’ वायरस का ये हमला अभूतपूर्व है।


- रविवार को ये कहा गया कि 150 देशो में इस वायरस ने दो लाख से ज़्यादा शिकार किए है। इस वायरस के चलते आपके कंप्यूटर तो प्रभावित हो ही सकते हैं साथ ही आपका एटीएम भी इससे प्रभावित हो सकता है।


- हाल ही में आरबीआई ने एक ट्वीट जारी कर ये जानकारी दी है कि ‘रैनसमवेयर’ वायरस से आपका एटीएम भी निशाना बन सकता है इसलिए सॉफ्टवेयर को अपडेट किए बिना न चलाए।


- आरबीआई ने बैंकों के लिए भी गाइडलाइन जारी की है कि वे जल्द ही अपने एटीएम के सॉफ्टवेयर को अपडेट कर लें।


- आपको बता दें कि देश में इस समय कम से कम 2.25 लाख एटीएम कार्यरत है और आरबीआई ने सभी बैंकों को निर्देश दिए है कि वे अपने एटीएम के सॉफ्टवेयर को जल्द ही अपडेट कर ले तब तक आम जनता को सावधानी पूर्वक एटीएम कार्ड का इस्तेमाल करने के लिए कहा है। जिस वायरस के कारण ये सब हो रहा है वो माइक्रोसॉफ्ट को भी निशाना बना चुका है और इसी कारण से आम कंप्यूटर बहुत ज़्यादा प्रभावित हो सकते हैं।