Blog single photo

अटल बिहारी वाजपेई की जयंती पर स्मारक 'सदैव अटल' को देश को समर्पित करेंगी सरकार

आज पूर्व अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती है। ऐसे में केंद्र सरकार इस दिन को सुशासन दिवस के रूप में मना रही है। आज इस मौके पर सरकार वाजपेयी का स्मारक राष्ट्र को समर्पित करेगी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (25 दिसंबर): आज पूर्व अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती है। ऐसे में केंद्र सरकार इस दिन को सुशासन दिवस के रूप में मना रही है। आज इस मौके पर सरकार वाजपेयी का स्मारक राष्ट्र को समर्पित करेगी। इस स्मारक का नाम 'सदैव अटल' रखा गया है। ये स्मारक को राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर बनाया गया है। वाजपेयी की जयंती पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कई बड़े नेता राजघाट के नजदीक स्थित सदैव अटल स्मृति स्थल पर आयोजित प्रार्थना में हिस्सा लेंगे। आपको बता दें इससे पहले कल पीएम मोदी ने उनकी याद में 100 रुपये का सिक्का जारी किया।अटल बिहारी पर्यावरण के प्रति विशेष प्रेम रखते थे। इसकी झलक कई बार उनकी कविताओं में भी देखने को मिलती है। उनके इसी पर्यावरण प्रेम को ध्यान में रखते हुए समाधि इस तरह से बनाई गई है कि एक भी पेड़ नहीं काटना पड़े। सात एकड़ के स्मृति स्थल परिसर में पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह, आर वेंकटरमन, शंकर दयाल शर्मा, केआर नारायण, पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल, पीवी नरसिम्हा राव, चंद्र शेखर जैसे दिग्गजों की भी समाधियां बनी हुई हैं।आपको बात दें कि अटल बिहारी का निधन 16 अगस्त 2018 को हुआ था। इसके बाद यह उनकी पहला जन्मदिन है। सदैव अटल समाधि पर कमल के फूल के आकार का एक पारदर्शी पत्थर भी लगाया है। इस पत्थर में रात को लाइटिंग की व्यवस्था भी की गई है। अटल बिहारी की पहचान एक कवि के रूप में भी रही है। ऐसे में समाधि स्थल के आसपास की दीवारों पर उनकी कविताएं भी लिखी गई हैं। अटल बिहारी वाजपेयी को दलगत राजनीति से परे सभी के प्रिय नेता के रूप में पहचाना जाता है।

Tags :

NEXT STORY
Top