बलूचियों को भारत में मिल सकती है शरण !

संजीव त्रिवेदी, नई दिल्ली (4 अगस्त): बलूच नेता ब्रह्मदाग बुगती को भारत शरण दे सकता है। हालांकि, बुगती के आग्रह पर भारत सरकार से किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं मिली है, लेकिन जिस तरह प्रधानमंत्री ने 15 अगस्त को लाल किले से बलूचिस्तान का जिक्र किया और फिर आकाशवाणी को बलूची भाषा में कार्यक्रम शुरु करने के निर्देश दिये हैं, उनसे लगता है कि भारत में ब्रह्मदाग बुगती और बाकी बलूचियों को शरण मिल सकती है।

कुछ लोग यह भी मानते हैं कि चीन की लाख आपत्तियों के बावजूद निर्वासित तिब्बत सरकार को शरण मिल सकती है तो बलूचियों को शरण देने में प्रधानमंत्री मोदी कोई हिचकिचाहट नहीं दिखाएंगे। इसके अलावा बलूचियों को भारत में शरण देने का एक बड़ा तर्क यह भी है कि जब पाकिस्तान भारत के मोस्ट वांटेड अपराधी और ग्लोबल टेररिस्ट दाऊद इब्राहीम को अपने यहां छिपा कर रख सकता है तो फिर पाकिस्तान से अपना हक वापस मांग रहे लोगों को शरण क्यों नहीं दे सकता।