शनि और मंगल का 7 मार्च से बन रहा है महायोग, इन राशियों के जातक बरतें खास सावधानी

नई दिल्ली (5 मार्च): लंबे अरसे के बाद 7 मार्च से महासंयोग बनने जा रहा है। ये महायोग इसलिए अहम है क्यों कि अगले दो महीने यानी 2 मई तक शनि और मंगल ग्रह एक ही राशि में रहने वाला है। शनि ग्रह को पापी ग्रह कहा जाता है तो वहीं मंगल आग का कारक माना जाता है। शनि पहले से ही धनु राशि में गोचर हैं और 7 मार्च की शाम 6 बजकर 30 मिनट पर मंगल भी धनु राशि में प्रवेश करेंगे। मान्यता के मुताबिक मंगल और शनि के युति से आने वाले समय में सभी राशियों पर कुछ न कुछ असर पड़ना निश्चित है।

आइए जानते हैं इसका किस राशि पर क्या असर पड़ेगा...

मेष- इस राशि वालों का स्वामी मंगल होता है। मेष राशि और लग्न वालों के लिए शनि-मंगल की युति 9वें स्थान पर होगी। इसके कारण अचानक दुर्घटना हो सकती है। पुत्र-पिता में विवाद हो सकता है। सेहत खराब हो सकती है। फिजूल खर्ची बढ़ सकती है।

वृष- इस राशि के लिए शनि और मंगल की युति अष्टम भाव में हो रहा है। इस राशि को लोग किसी साजिश के शिकार हो सकते हैं। परिवार में संपत्ति विवाद हो सकता है। मान-सम्मान को ठेस पहुंच सकता है।

मिथुन- इस राशि वालों के लिए यह युति सप्तम स्थान पर है। इसमें अच्छे योग बन रहे हैं। किसी काम में बार- बार असफलता मिलना बंद हो जाएंगी। कमाई के मौके बढ़ेंगे। व्यापारी और नौकरीपेशा वाले लोगों के लिए कई अच्छे मौके आएंगे। पति-पत्नी के बीच प्यार बढ़ेगा।

कर्क- इस राशि वालों के लिए यह छठे भाव में गोचर हो रहा है जो विनाश और दुश्मनी को बढ़ाने वाला कारक है। इस राशि वालों के लिए शनि-मंगल का एक साथ आना अशुभ फल प्रदान करेगा। इस राशि वालों को नुकसान होने का अंदेशा है। हर एक काम को पूरा करने के लिए बहुत ज्यादा भागदौड़ करनी पड़ सकती है जिसके कारण सेहत पर बुरा असर देखने को भी मिल सकता है।

सिंह- इस राशि के लिए शनि और मंगल का गोचर पांचवें स्थान में हो रहा है। यह स्थान संतान और शिक्षा से जुडा है। जिसके चलते छात्रों को परीक्षा देने में दिक्कत आ सकती है पढ़ाई में मन नहीं लगेगा। साथ आर्थिक मामलों में भारी नुकसान होने का भी योग बन रहा है। 

कन्या- इस राशि के जातकों के लिए शनि और मंगल का स्थान चतुर्थ भाव में रहेगा। 2 महीने आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है। पैसे की कमी से कई महत्वपूर्ण काम अटक सकते हैं। सेहत में भी गिरावट आ सकती है। 

तुला- शनि-मंगल का योग तुला राशि वालों के लिए मिलाजुला असर देखने को पड़ सकता है। अचानक धन लाभ हो सकता है। पैसे की कमी नहीं होगी। लड़ाई-झगड़े की संभावना। मानसिक तनाव के आसार।

वृश्चिक- शनि-मंगल के इस राशि के दूसरे भाव में आने से शुभ संकेत है। मंगल इस राशि के जातकों को धन, प्रापर्टी में अच्छा फायदा होगा। हालांकि शनि के कारण शत्रु सक्रिय रहेंगे। प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंच सकता है।

धनु- शनि और मंगल का महायोग इसी राशि में हो रहा है इसलिए इसका असर सबसे ज्यादा इसी राशि के जातको पर रहेगा। धनु राशि का स्वामी गुरु होता है।जिससे इस राशि पर कई तरह की मुसीबतें आएगी। यह मुसीबत आर्थिक संकट और मान-सम्मान मे कमी आएगी। व्यापारी  और नौकरी पेशा लोगों को हानि और तनाव का सामना करना पड़ सकता है।

मकर- इस राशि के जातकों के लिए मंगल और शनि की युति दसवें भाव में हो रहा है। इस युति के कारण तनाव बढ़ सकता है। चोरी होने की संभावना है। संपत्ति में विवाद बढ़ने के आसार।

कुंभ- इस राशि के जातकों के लिए शनि-मंगल का गोचर शुभ रहेगा क्योंकि यह एकादश वाले भाव में है। अचानक कहीं से भारी फायदा मिल सकता है। संपत्ति के कई अच्छे सौदे हो सकते है। मान-सम्मान में वृद्धि होगी। परिवार में प्यार बढ़ेगा।


मीन- इस राशि वालों का शनि और मंगल का युति दशम भाव में हो रहा है। जिसके कारण 2 मई तक इस राशि वालों के लिए ज्यादा अच्छा नहीं रहेगा। अचानक कई तरह की परेशानियां सामने आ सकता है। कोई भारी दुर्घटना घट सकती है सावधानी बरतें। मानसिक तनाव रहेगा।