WATCH : होलिका दहन पर ज्योतिषियों की राय...

नई दिल्ली (22 मार्च): इस बार होली को लेकर कई भ्रम है। ग्रह-नक्षत्रों की चाल के आधार पर दो योग बन रहे हैं। इसलिए होलिका दहन 22 मार्च को होगा या फिर 23 मार्च को होगा, इसको लेकर संशय बना हुआ है।

ज्योतिष के अनुसार, 22 मार्च को होलिका दहन के दिन भद्रा होने से इस दिन होलिका दहन नहीं किया जा सकेगा, इसलिए 23 मार्च को होलिका दहन किया जाएगा और 24 मार्च को होली खेली जाएगी। वहीं जो लोग 22 मार्च की रात 4 बजे के बाद भद्रा समाप्त होने पर होलिका दहन करेंगे वे 23 मार्च को होली खेलेंगे। जो कि फाल्गुन महीने की पूर्णिमा को होगा।

ज्योतिषचार्यों के अनुसार, 22 मार्च की दोपहर करीब 2:45 बजे से पूर्णिमा तिथि लग रही है जो 23 मार्च की शाम 5:15 बजे तक ही रहेगी और इसके बाद प्रतिपदा तिथि लग जाएगी। चूंकि 22 मार्च को दोपहर 3:12 बजे से रात 3:42 बजे तक भद्रा है और भद्रा में होलिका दहन नहीं किया जाता, इस कारण 23 मार्च को होलिका दहन किया जाएगा। 

इस दिन भी पूर्णिमा तिथि शाम साढ़े पांच बजे तक ही है। इसलिए शाम साढ़े पांच बजे के पहले ही होलिका दहन करना उचित होगा। यही शास्त्र के अनुसार भी उचित है।

देखिए न्यूज़24 की रिपोर्ट...

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=w1C86C6X4U4[/embed]