Blog single photo

हरियाणा-महाराष्ट्र: किसकी मनेगी दिवाली, किसका निकलेगा दिवाला, मतगणना आज

महारष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के नतीजे आज आ रहे हैं। थोड़ी देर में वोटों की गिनती होगी। ज्यादातर एग्जिट पोल भले ही बीजेपी को बंपर जीत दिखा रहे हों लेकिन कांग्रेस भी अपने अच्छे प्रदर्शन को लेकर आश्वस्त है।सभी राजनीतिक दलों के अपने-अपने दावे हैं, लेकिन किसके दावों में कितना दम है, ये तो आने वाले नतीजे ही तय करेंगे। 2014 में हरियाणा में बीजेपी ने बहुमत से सरकार बनाई थी, वहीं महाराष्ट्र में सहयोगी शिवसेना के साथ सरकार बनाई थी।

Image Source Google

न्यूज़ 24, ब्यूरो, नई दिल्ली (24 अक्टूबर): महारष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के नतीजे आज आ रहे हैं। थोड़ी देर में वोटों की गिनती होगी। ज्यादातर एग्जिट पोल भले  ही बीजेपी को बंपर जीत दिखा रहे हों लेकिन कांग्रेस भी अपने अच्छे प्रदर्शन को लेकर आश्वस्त है।सभी राजनीतिक दलों के अपने-अपने दावे हैं, लेकिन किसके दावों में कितना दम है, ये तो आने वाले नतीजे ही तय करेंगे।  2014 में हरियाणा में बीजेपी ने बहुमत से सरकार बनाई थी, वहीं महाराष्ट्र में सहयोगी शिवसेना के साथ सरकार बनाई थी।

दोनों राज्यों के विधानसभा चुनाव के साथ 17 राज्यों की 51 सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजें भी गुरुवार को घोषित किए जाएंगे। इसके अलावा सतारा और समस्तीपुर लोकसभा सीट पर उपचुनाव के नतीजों का भी ऐलान किया जाएगा।

क्षेत्रीय दलों के लिए भी बड़ी चुनौती

महाराष्ट्र में यह चुनाव राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (जो कांग्रेस के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ रही है।), महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना, एआईएमआईएम और वंचित बहुजन अगाड़ी जैसे क्षेत्रीय दलों के लिए भी महत्वपूर्ण होने वाला है। उसी तरह हरियाणा में इंडियन नैशनल लोकदल, जननायक जनता पार्टी के लिए इस चुनाव के नतीजे महत्वपूर्ण होंगे। हरियाणा में बीएसपी ने भी दो सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।

महाराष्ट्र और हरियाणा में बीजेपी की वापसी का उम्मीद

महाराष्ट्र के ज्यादातर एग्जिट पोल में बीजेपी-शिवसेना के फिर से सत्ता में वापसी का अनुमान जताया गया है। हालांकि सभी एग्जिट पोल में पार्टियों को मिलने वाली सीटों की संख्या काफी अलग है। वहीं हरियाणा में ज्यादातर एग्जिट पोल में बीजेपी को बहुमत का अनुमान जताया है, जबकि एक एग्जिट पोल ने कांग्रेस और बीजेपी में कड़ी टक्कर होने की बात कही है और अनुमान जताया है कि किसी भी दल को बहुमत नहीं मिलेगा। मुंबई बीजेपी दफ्तर में मिठाई बनाकर जीत का जश्न मनाने की तैयारी की जा रही हैं।

370 हटाने के बाद पहला चुनाव

केंद्र सत्ताधारी पार्टी द्वारा कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले के बाद यह देश में पहला चुनाव है। यदि नतीजे बीजेपी के पक्ष में आते हैं तो आने वाले शीतकालीन सत्र में भी इसी दल का दबदबा बना रहेगा। बता दें कि अगले महीने ही शीतकालीन सत्र शुरू होना है।

मई में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी ने फिर से भारी बहुमत से सत्ता में वापसी की थी। महाराष्ट्र और हरियाणा की जीत से इस बात पर भी मुहर लग सकती है कि देश अब भी पीएम नरेंद्र मोदी के पक्ष में ही हवा है। वहीं नतीजे कांग्रेस के लिए भी महत्वपूर्ण होंगे क्योंकि केंद्र में पार्टी को लगातार दो बार हार का मुंह देखना पड़ा था। यदि दोनों राज्यों के कांग्रेस अच्छा प्रदर्शन करती है तो यह कांग्रेस में फिर से जान फूंकने जैसा होगा।

Tags :

NEXT STORY
Top