सर्वे: असम में किसी को स्पष्ट बहुमत नहीं, ये है अन्य राज्यों का आंकलन

नई दिल्ली (3 अप्रैल): पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर घमासान जारी है। इंडिया टीवी-सी वोटर्स के ऑपिनियन पोल को आंकड़ों को देखें तो असम में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिल रहा। वहीं केरल में लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट, पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस, तमिलनाडु में एआईएडीएमके दोबारा से सत्ता में आ सकती हैं।

असम का हाल सर्वे के अनुसार असम विधानसभा के 126 सीटों में से 55 पर बीजेपी गठबंधन और 53 सीटें कांग्रेस के खाते जाती दिख रही हैं। वहीं ऑल इंडियन यूनाइटड डेमोक्रेटिक फ्रंट को 12 सीटें मिल रही हैं। बता दें कि असम में बहुमत के लिए 64 सीटों की दरकार होगी। ऐसे में यूनाइटड डेमोक्रेटिक फ्रंट की भूमिका अहम मानी जा रही है। बता दें कि भाजपा असम में असम गण परिषद और बोडो पीपुल्स फ्रंट के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है।

तमिलनाडु का हाल सर्वे के अनुसार तमिलनाडु में सीएम जय ललिता का दोबारा जीतना तय माना जा रहा है। उनकी पार्टी एआईएडीएमके को 234 सीटों में से 130 सीटें मिल रही हैं। वहीं कांग्रेस-डीएमके गठबंधन को 70 सीटें मिल रही हैं। इधर, सर्वे के अनुसार बीजेपी गठबंधन खाली हाथ रह सकता है। यहां अन्य को 34 सीटें दी गई हैं। 

केरल का हाल केरल विधानसभा में कुल 140 सीटें हैं जिसमें से लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट 86 सीटें जीतकर बहुमत के साथ आ रहा है। वहीं कांग्रेस नेतृत्व वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट को 53 सीटें मिल रही हैं। भाजपा नेतृत्व वाले गठबंधन को मात्र एक सीट मिल रही है। 

बंगाल का हाल सर्वे के अनुसार 294 विधानसभा सीटों वाले बंगाल में सीएम ममता बनर्जी की जीत तय मानी जा रही है। उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस को 160 सीटें पर जीत मिल सकती है। वहीं सीपीआई(एम)-कांग्रेस गठबंधन को 137 सीटें मिल रही हैं। इसमें से लेफ्ट के हिस्से में 106 और कांग्रेस के हिस्से में 21 सीटें जा रही हैं। भाजपा को केवल चार और अन्य को तीन सीटें दी गई हैं।