असम में अब 31 जुलाई 2018 तक होगी मूल निवासियों की पहचान

नई दिल्ली (17 नवंबर): असम में अब 31 दिसंबर 2017 की बजाय 31 जुलाई 2018 तक नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस यानी NRC को अपडेट किया जाएगा। इससे पहले गृहमंत्रालय ने सुप्रीम कोर्ट से नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस के मसौदे के लिए डेडलाइन को बढ़ाने की अपील की थी।

असम NRC के ताजा रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में कुल 3.21 करोड़ आवेदनकर्ताओं में से करीब 2 करोड़ आवेदन वेरिफाई हुए हैं। अभी भी 1.23 करोड़ आवेदन वेरिफाई होना बांकी है।

आपको बता दें कि अवैध इमिग्रेशन पर अंकुश लगाने के लिए राज्य के मूल निवासियों की पहचान करने के लिए राष्ट्रीय नागरिक पंजिका को अपडेट किया जा रहा है। एनआरसी अपडेशन का काम सुप्रीम कोर्ट की निगरनी में चल रहा है। एनआरसी अपडेट असम में सबसे चर्चित और विवादास्पद मसला है। कईयों का मानना है कि एनआरसी अपडेशन ही अवैध माइग्रेंट्स मुद्दे का सुसंगत हल है।