औरतें थी मर्दों से ज्यादा... पढें ASI का बड़ा खुलासा

नई दिल्ली (24 अप्रैल): किसी को भी जान कर हैरानी होगी कि महिलाएं आदमियों से अधिक ताकतवर हैं। दुनिया की शुरुआत के दौरान महिलाएं आज के जमाने के आदमियों से ज्यादा ताकतवर थी। उस समय की महिलाओं की हड्डियां आज के इंसानों की तुलना में अधिक चौड़ी और मजबूत थीं। महिलाएं खुद ही शिकार भी किया करती थीं। नर्मदा घाटी में मिले हड्डियों के एक ढांचे की जांच से यह खुलासा हुआ है। इन गुफाओं में एंथ्रोपोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) के वैज्ञानिकों को 70 हजार साल पुरानी महिलाओं की अस्थियों के टुकड़े मिले हैं। 

ये अस्थियां दुनिया की शुरुआत की हैं। उस दौर में पत्थरों से बने औजारों का इस्तेमाल किया जाता था। इस काल की महिलाएं आत्मरक्षा या शिकार के लिए पुरुषों के साथ मिलकर जंगली जानवरों का शिकार करती थीं। अपने क्षेत्र में किसी दूसरे समूह की घुसपैठ पर भी वे मोर्चा संभाल लेती थीं। यही वह दौर था, जब आधुनिक मानव के पुरखों में सामाजिकता की भावना पैदा हुई। आदमी और महिलाओं के संबंध नया आयाम ले रहे थे। 

नर्मदा घाटी की गुफाओं के आसपास दो छेद वाला हड्डी से बना गहना भी मिला है। वैज्ञानिकों का मानना है कि इसी काल में महिलाओं के जानवरों की हड्डियों के गहन पहनने का चलन भी शुरू हुआ। हाथी की हड्डी से बने इस गहने को कुछ वैज्ञानिक ताबीज मान रहे हैं।

बताया जा रहा है कि इन तबीजों को प्राकृतिक आपदाओं का सामना करने के लिए सुरक्षा कवच के तौर पर इस्तेमाल किया जाता होगा। उस वक्त तक ‘आर्केइक होमो सैपियंस’ छेद करने का हुनर जान चुका था। वैज्ञानिकों को हाथी की हड्डी से बनी खुरपी, ब्लेड की तरह तेज क्लीवर और स्क्रैपर आदि मिले हैं। जांच में ये औजार 70 हजार से एक लाख साल पुराने बताए गए हैं।