अश्विन ने तेंदुलकर-द्रविड़ को छोड़ा पीछे

नई दिल्ली(23 जुलाई): वेस्टइंडीज में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और रविचंद्रन अश्विन वेस्टइंडीज के गेंदबाज़ों की जमकर धुनाई की। भारत और वेस्टइंडीज के बीच एंटीगा के विवियन रिचर्ड्स के मैदान पर हो रहे पहले टेस्ट मैच में कप्तान कोहली और रविचंद्रन अश्विन की शानदार बल्लेबाजी के बदलौत टीम इंडिया मजबूत स्थिति में पहुंच गई है। कोहली ने अपने टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक लगाया और पहले भारतीय कप्तान और बल्लेबाज के रूप में विदेशी मैदान पर दोहरा शतक लगाने का गौरव हासिल किया।

 सचिन रह गए अश्विन से पीछे

कोहली के साथ-साथ रविचंद्रन अश्विन ने भी शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए एक मामले में सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ दिया। रविचंद्रन अश्विन ने वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने करियर का तीसरा शतक लगाया और वेस्टइंडीज के खिलाफ सबसे ज्यादा शतक लगाने के मामले में सचिन तेंदुलकर को पीछे कर दिया। सचिन तेंदुलकर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन शतक लगाए हैं लेकिन ये तीन शतक लगाने के लिए तेंदुलकर ने 21 मैचों का सहारा लिया है। जबकि अश्विन ने इतने ही शतक लगाने के लिए सिर्फ छह मैच लिये हैं। सिर्फ सचिन नहीं इस मामले में आश्विन ने नवजोत सिंह सिद्धू, दिलीप सरदेसाई, चंदू बोर्डे, महिंदर अमरनाथ जैसे खिलाड़ियों को भी पीछे छोड़ दिया है।

इस मामले में अश्विन ने राहुल द्रविड़ को छोड़ा पीछे

वेस्टइंडीज के खिलाफ अश्विन का औसत भी शानदार है। अश्विन ने वेस्टइंडीज के खिलाफ छह मैच खेलते हुए करीब 65 की औसत से 388 रन बनाए हैं और इस मामले में उन्‍होंने राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ दिया है। द्रविड़ ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 23 मैच खेलते हुए 63.80 की औसत से 1978 रन बनाए  हैं। अगर भारतीय खिलाड़ी के रूप में वेस्टइंडीज के खिलाफ सबसे ज्यादा औसत की बात की जाए तो यह रिकॉर्ड सुनील गावस्कर के नाम है। गावस्कर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 27 मैच खेले हैं और 65.45 की औसत से 2749 रन बनाए हैं।