अश्विन को लेकर शास्त्री ने की ये भविष्यवाणी

नई दिल्ली(26 सितंबर): टीम इंडिया के पूर्व डायरेक्टर रवि शास्त्री ने आर.अश्विन को सबसे तेजी से 200 टेस्ट विकेट हासिल करने पर बधाई दी है। एक अंग्रेजी अखबार में लिखे अपने कॉलम में शास्त्री ने लिखा शास्त्री कहते हैं कि मैं खुशकिस्मत लोगों में से हूं जिन्होंने अश्विन को करीब से देखा है। उन्होंने कहा कि इस नाते मैं दावे से कह सकता हूं कि अश्विन शेर की तरह गेंदबाजी करते हैं। वह इंतजार करते है, फिर इंतजार करते हैं और आखिरी हमला बोलने से पहले एक बार फिर थोड़ा सा इंतजार करते हैं। जैसे जंगल में शेर को पता होता है कि अपने शिकार पर कब हमला बोलना है उसी तरह अश्विन भी हैं। वह सोचते हैं, योजना बनाते हैं, अंदाजा लगाते हैं और फिर जब वह हमला करते हैं असहाय बल्लेबाज के पास कोई विकल्प नहीं होता।

- शास्त्री ने कहा, 'मुझे याद है कि साउथ अफ्रीका के खिलाफ पिछले साल खेले गए टेस्ट मैच के दौरान उन्होंने एबी डी विलियर्स को कैसे फंसाया था। उन्होंने एबी की क्षमता वाले बल्लेबाज को मिडल और लेग स्टंप लाइन पर बांध लिया और इसके बाद कैरम बॉल डालकर उसे फंसा लिया। वह शेर की तरह हमले के लिए सही मौके का इंतजार करते हैं।'

- पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा कि यहां कानपुर में भी उन्होंने न्यू जीलैंड के कप्तान केन विलियमसन को कमाल तरीके से आउट किया। ऑफ स्पिनर्स ग्रीन पार्क मैदान पर कामयाबी हासिल कर सकते हैं लेकिन वे उन दो तरह की गेंदें नहीं फेंक सकते। स्पिनर्स आएंगे और जाएंगे लेकिन आपको दूसरा अश्विन इतनी आसानी से नहीं मिलेगा।

- 200 विकेट इतनी आसानी से नहीं मिलते हैं। वह अश्विन की निरंतरता, संयम और योजना का नतीजा है। अश्विन कई घंटे तक नेट पर मेहनत करते हैं। वह नेट पर एक खास योजना के साथ उतरते हैं और जब तक उसे हासिल नहीं कर लेते तब तक संतुष्ट नहीं होते।

- अब तक हमने जो देखा है वह उनकी क्षमता का 30 प्रतिशत ही है। वह शारीरिक रूप से काफी मजबूत हैं और अगर वह अपनी लय बरकरार रख पाए तो वह 500 टेस्ट विकेट ही नहीं बल्कि 4000 टेस्ट रन भी बना सकते हैं। वह महानता प्राप्त करने की राह पर हैं।

 -आपको बता दें अश्विन सबसे तेजी से 200 टेस्ट विकेट हासिल करने वाले भारतीय गेंदबाज बन गए हैं। उन्होंने कुल 37 टेस्ट मैचों में यह मुकाम हासिल किया है।  टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेजी से 200 विकेट हासिल करने का रेकॉर्ड ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर क्लेरी ग्रिमेट के नाम है जिन्होंने 36 टेस्ट मैचों में यह कीर्तिमान बनाया था।