अशोक चक्र से सम्मानित हंगपन दादा ने मार गिराए थे 4 आतंकी

नई दिल्ली(26 जनवरी): शहीद हवलदार हंगपन दादा ने जम्मू-कश्मीर में एक मुठभेड़ में चार आतंकियों को ढेर किया था। हंगपन को गुरुवार को अशोक चक्र से नवाजा गया है।

- राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उनकी पत्नी चासेन लोवांग दादा को यह सम्मान दिया।

- नॉर्थ कश्मीर के कुपवाड़ा में 27 मई को करीब 12500 फीट पर कुछ आतंकवादी सीमा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे।

- 36 साल के दादा ने इन आतंकियों का मुकाबला बड़ी बहादुरी से किया।

- उन्होंने तीन आतंकवादियों को मार गिराया। लेकिन वे बुरी तरह जख्मी हो गए। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। बाद में उन्होंने चौथे आतंकी को भी मार गिराया।

- अरणाचल प्रदेश के बोदुरिया गांव के रहने वाले हवलदार हंगपन अपनी टीम में 'दादा' के नाम से लोकप्रिय थे।

- वह पिछले साल से उच्च पर्वतीय रेंज में तैनात थे।

- उन्होंने 1997 में आर्मी की असम रेजीमेंट के जरिए आर्मी में शामिल हुए थे। बाद में 35 राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात किए गए।

- पिछले साल नवंबर में शिलांग के असम रेजीमेंटल सेंटर (एआरसी) में प्लेटिनियम जुबली सेरेमनी के दौरान एक एडमिनिस्ट्रेटिव ब्लॉक का नाम हंगपन के नाम पर रखा गया।