आशीष पांडे ने जिसे दिखाई थी पिस्टल उसने बताया, क्यों गया था लेडीज टॉयलेट !


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 अक्टूबर): दिल्ली के एक नामी होटल में खुलेआम एक युवक और एक युवती को पिस्टल दिखाकर जान से मारने की धमकी देने वाले बीएसपी के पूर्व सांसद के बिगड़ैल बेटे आशीष पांडे ने दिल्ली पटियाला हाउस कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। आशिष पांडे की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली पुलिस और उत्तर प्रदेश की पुलिस पिछले 4 दिनों से खाक छान रही थी। इससे पहले आशीष ने जिसे बंदूक लेकर धमकाया था उसने पुलिस में लिखित शिकायत दर्ज करवाई। कंवर गौरव दिल्ली के पूर्व विधायक का बेटा है।
गौरव ने शिकायत में लिखा है कि '13 अक्टूबर की रात मैं अपनी दोस्त के साथ डिनर पर गया था। मेरी दोस्त को कुछ परेशानी हुई। उसने मुझसे वॉशरूम तक साथ आने को कहा। मैं वॉशरूम के गेट पर खड़ा था। तभी तीन लड़कियां वहां आईं। उन्होंने मुझसे बदतमीजी की। मेरी दोस्त से गालीगलौच करना शुरु कर दिया। मैं चुप रहा। मैंने होटल स्टाफ को मदद के लिए बुलाया। तभी वहां उन तीन महिलाओं के दोस्त भी आ गए। मेरी दोस्त डर गई वो रोने लगी। हम होटल से बाहर जाने लगे। हमने देखा वो लोग गेट के बाहर हमारा इंतजार कर रहे थे। उन्होंने हमें फिर से गाली देना शुरु कर दिया। गुलाबी पैंट पहने हुए शख्स ने गाड़ी से पिस्टल निकाल ली। उसने मुझे जान से मारने की धमकी दी। वो कह रहा था कि वो लखनऊ से है। उसके दोस्त उसे आशीष कह कर पुकार रहे थे। मैं पुलिस के पास नहीं गया क्योंकि मैं बहुत डर गया था। मेरा एक छोटा बच्चा है। मेरी जान को खतरा है। मुझे सुरक्षा दी जाए। मैं उन लोगों को पहचान सकता हूं।

आपको बता दें कि मंगलवार को उसका एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वह गुलाबी पैंट पहने हुए बंदूक लहरा रहा था और एक कपल को धमका रहा था। आशीष पांडे बीएसपी के पूर्व सांसद राकेश पांडे का बेटा है। आशीष का छोटा भाई रितेश पांडे अंबेडकर नगर की जलालपुर विधानसभा सीट से बीएसपी के विधायक हैं। आशीष पांडे के चाचा पवन पांडे उत्तर प्रदेश बाहुबली नेताओं में गिने जाते हैं। पवन पांडे शिवसेना से विधायक रहे चुके हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में सुल्तानपुर से बीएसपी उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़े थे, लेकिन बीजेपी उम्मीदवार वरुण गांधी के हाथों हार गए थे। पवन पांडे की सुल्तानपुर से लेकर फैजाबाद तक दबंग गई चलती है।