Blog single photo

'मेरे पास और ज्यादा देने के लिए कुछ नहीं, मैं मानसिक रूप से थक गया हूं'

एशेज सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने शानदार प्रदर्शन किया। स्मिथ ने बॉल टेम्परिंग विवाद के बाद लगे एक साल के बैन के बाद ये पहली टेस्ट सीरीज खेली और 110 की औसत से 7

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(16 सितंबर): एशेज सीरीज में ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने एशेज सीरीज में धमाकेदार बल्लेबाजी करते हुए 774 रन बनाए। स्मिथ ने बॉल टेम्परिंग विवाद के बाद लगे एक साल के बैन के बाद ये पहली टेस्ट सीरीज खेली और 110 की औसत से 774 रन बनाए। स्मिथ इस सीरीज के बाद थक गए हैं और फिलहाल वो कुछ आराम करना चाहते हैं। स्मिथ के दम पर ही 2001 के बाद पहली बार ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड में एशेज ट्रॉफी पर कब्जा बरकरार रखा।

स्मिथ को एशेज में उनके शानदार प्रदर्शन के चलते मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार मिला। इंग्लैंड की टीम पांचवां और अंतिम मैच 135 रन से जीतकर पांच मैचों की एशेज सीरीज 2-2 से ड्रॉ कराने में सफल रही। स्मिथ ने मैच के बाद कहा, 'मैं पिछले चार महीने से भी अधिक समय से यहां था और मैंने यहां अपना बेस्ट दिया। लेकिन अब मेरे पास और ज्यादा कुछ देने के लिए नहीं है।' उन्होंने कहा, 'मैं मानसिक और शारीरिक रूप से थोड़ा थक गया हूं और अब मैं अगले कुछ सप्ताह थोड़ा ऑफ (आराम) चाहता हूं और वापस ऑस्ट्रेलिया के माहौल का आनंद लेना चाहता हूं।'

स्मिथ अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में टॉप पोजिशन पर कायम हैं। उन्होंने एशेज सीरीज के पहले टेस्ट मैच में ही 144 रन की शानदार पारी खेली थी। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने कहा, 'एशेज सीरीज का पहला टेस्ट हमेशा महत्वपूर्ण होता है। टीम को संकट से बाहर लाने के बाद मेरा आत्मविश्वास काफी बढ़ गया। इसके बाद मुझे लगने लगा कि मैं इसे आगे भी जारी रख सकता हू।'

बॉल टैंपरिंग में दोषी पाए गए 30 साल के स्मिथ की 12 महीनों के प्रतिबंध के बाद क्रिकेट के मैदान पर वापसी आसान नहीं रही। उन्होंने पहले ही टेस्ट में शानदार 144 रन की पारी खेलकर आलोचकों को शांत कर दिया। स्मिथ ने बताया कि पहले टेस्ट में शतक बनाने से उनको काफी आत्मविश्वास मिला। "एशेज में खेला जाने वाला पहला टेस्ट हमेशा ही महत्वपूर्ण होता है। टीम को मुश्किल हालात से निकालकर बाहर लाने से मुझे काफी आत्मविश्वास मिला।" 

Tags :

NEXT STORY
Top