चीन बनाएगा 'वर्ल्ड क्लास' आर्मी, एशिया के लिए खतरा!

नई दिल्ली ( 1 नवंबर ): चीन भारत को घेरने के लिए एक साथ कई योजनाओं पर काम कर रहा है. एक तरफ एक बार फिर चीन के राष्ट्रपति चुने गए शी जिनपिंग कहते हैं कि उनकी आर्मी का फोकस जंग जीतने पर होना चाहिए। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग का कहना है कि वे देश की सेना को साल 2050 तक 'वर्ल्ड क्लास' बना देंगे।

इससे चीन के पड़ोसी देश भले ही परेशान हों, लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि पेइचिंग की सैन्य महत्वकांक्षाओं से फिलहाल कोई रणनीतिक खतरा नहीं है। लड़ाकू विमानों, जहाज और अत्याधुनिक हथियारों की खरीद और निर्माण की वजह से चीन का सैन्य बजट पिछले 30 सालों में तेजी से बढ़ा है, लेकिन अभी भी यह अमेरिका से 3 गुना कम है। हालांकि, अब पेइचिंग ने अमेरिका को टक्कर देने की तैयारी करना शुरू कर दिया है। 

पिछले महीने जब देश के राष्ट्रपति शी चिनफिंग को दूसरे कार्यकाल के लिए चुना गया तो इस मौके पर कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के 2300 सदस्यों के सामने उन्होंने कहा, 'हमें 21वीं सदी के मध्य तक अपनी सेना को विश्व स्तरीय सेना में पूरी तरह बदलने की कोशिश करनी चाहिए।'

शी चिनफिंग ने यह कहा कि अब वे ऐसी सेना बनाएंगे जो लड़ने के साथ ही जीतेगी भी। चिनफिंग के इस बयान ने चीन के उन पड़ोसियों की चिंता बढ़ा दी जो उसके साथ सीमा विवाद में फंसे हैं।