हिरासत से छूटने के बाद बोले केजरीवाल- मोदी माफी मांगे

नई दिल्ली(3 नवंबर): चार घंटे से अधिक समय की हिरासत के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लगभग आधी रात के समय आरके पुरम थाने से रवाना हो गए। उन्हें कथित तौर पर आत्महत्या करने वाले पूर्व सैनिक के परिवार से मिलने की कोशिश के चलते हिरासत में लिया गया था।

पुलिस के मुताबिक, 'केजरीवाल को लेडी हार्डिंग अस्पताल से शाम करीब 7 बजकर 45 मिनट पर हिरासत में लिया गया और उन्हें आरके पुरम थाने लाया गया क्योंकि वहां मीडिया या राजनीतिक नेताओं की मौजूदगी नहीं थी।' पुलिस ने उनसे रात करीब आठ बजकर 45 मिनट पर जाने को कहा, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। बाद में वह उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आप के अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ थाने से रवाना हुए।

थाने से रिहा होने के बाद केजरीवाल ने पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि ओआरओपी पर पीएम मोदी ने झूठ बोला है और उन्हें सैनिकों से माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने ट्वीट कर यह भी कहा कि मोदी जी के फर्जी राष्ट्रवाद की पोल खुल गई।

मोदी जी ने झूठ बोला कि OROP लागू हो गया। मोदी जी सैनिकों से माफ़ी माँगे। आज मोदी जी के फ़र्ज़ी राष्ट्रवाद की पोल खुल गयी।

वहीं देर रात लेडी हार्डिंग हॉस्पिटल में पूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल का पोस्टमॉर्टम किया गया। दिल्ली पुलिस पार्थिव शरीर लेकर भिवानी रवाना हो गई है। इस दौरान कई गाड़ियों का काफिला साथ में था। 

दूसरी ओर दिल्ली पुलिस ने कहा कि भूतपूर्व सैनिक की कथित आत्महत्या के मुद्दे पर राजनीतिक विरोध प्रदर्शनों चलते मची अफरातफरी के कारण कनॉट प्लेस में धारा 144 लागू रहेगी। पुलिस ने एक बयान में कहा कि कनॉट प्लेस में 28 दिसंबर तक यह निषेधाज्ञा रहेगी और विरोध प्रदर्शनों के करण जनता को हुई परेशानी के चलते आदेश सख्ती से लागू होंगे। निषेधाज्ञा आदेशों के दायरे में जंतर मंतर के आसपास के क्षेत्र को छोड़कर पूरा कनॉट प्लेस उपसंभाग आएगा।

 गौरतलब है कि सेना में सूबेदार पद से सेवानिवृत्त ग्रेवाल ने मंगलवार को जहर खाकर खुदकुशी कर ली थी। ग्रेवाल ने खुदकुशी से पहले कहा था कि वह सूइसाइड कर रहे हैं क्योंकि OROP पर सरकार उनकी मांगों को पूरा करने में नाकाम रही है। ग्रेवाल की मौत के बाद कांग्रेस, AAP समेत कई राजनीतिक दल केन्द्र पर OROP ठीक से लागू नहीं करने का आरोप लगा रहे हैं।