LG के घर धरने पर बैठे CM केजरीवाल, बोले- मांग नहीं मानी तो नहीं हटूंगा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 जून): दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने मंत्रियों के साथ एलजी अनिल बैजल के घर पर धरने पर बैठे हैं। केजरीवाल कामकाज का बहिष्कार करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर घरने पर बैठे हैं। केजरीवाल के साथ उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन और गोपाल राय भी तकरीबन 14 घंटे से धरने पर बैठे हैं। दरअसल, केजरीवाल अपनी तीन मांगें मनवाने के लिए सोमवार शाम को उपराज्‍यपाल से मिलने उनके दफ्तर पहुंचे थे। केजरीवाल का कहना है कि एलजी ने उनकी तीनों मांगों को ठुकरा दिया।इससे पहले आज सुबह एक बार फिर दिल्‍ली के उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्विटर पर टैग करते हुए उपराज्‍यपाल से समय मांगा है।  मनीष सिसोदिया ने लिखा, 'गुड मॉर्निंग सर, कल शाम से दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री और 3 मंत्री आपके वेटिंग रुम में रुके हुए हैं। हमें उम्‍मीद है कि आप अपने बिजी शेड्यूल से हमारे लिए कुछ वक्‍त निकालेंगे और हमारी 3 मांगों को मान लेंगे।'      

दरअसल केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली में हड़ताल पर गए आईएएस अधिकारियों को काम पर लौटने का निर्देश दिया जाए और चार महीनों से कामकाज रोक कर रखे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके अलावा राशन की डोर स्टेप डिलीवरी की योजना को मंजूरी मिले। केजरीवाल का आरोप है कि उपराज्यपाल उनकी सभी मांगों को खारिज कर दिया और वो इसके विरोध में एलजी दफ्तर पर ही धरने पर बैठ गए। केजरीवाल ने कहा कि जब तक उनकी मांगें नहीं मनी जाएगी वो यहां से नहीं जाएंगे।इससे पहले सोमवार को दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने की मांग को लेकर बुलाए गए विधानसभा की विशेष सत्र में केजरीवाल ने कहा कि अगर 2019 से पहले दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिल जाता है तो वह बीजेपी के लिए चुनाव प्रचार करेंगे और दिल्ली की जनता से बीजेपी के पक्ष में वोट करने की अपील करेंगे।