केजरीवाल अपनी मन की बात के लिए तैयार

वरुण सिन्हा, नई दिल्ली (16 जुलाई): इसे केजरीवाल का नया राजनीतिक दांव कहे या फिर दिल्ली के सीएम की पूरे देश के प्रति चिंता। 17 जुलाई को होने जा रहे टॉक-टू-AK प्रोग्राम में राजनीति भी होगी और पीएम मोदी पर वार के साथ-साथ केजरीवाल सरकार का गुणगान भी। विपक्ष ने इस प्रोग्राम को दिल्ली के साथ धोखा करार दिया है।

17 महीने की केजरीवाल सरकार के कार्यकाल में आम आदमी पार्टी के 8 विधायक अलग-अलग मामलों में गिरफ्तार हो चुके हैं। सरकार के मंत्री के बाद अब सीएम अरविन्द केजरीवाल के प्रधान सचिव जैसे अफसर भी गिरफ्तार होने लगे हैं। आम आदमी पार्टी और दिल्ली सरकार इसको केंद्र की मोदी सरकार की साजिश बता रही है। ऐसे में जनता में पार्टी और सरकार के प्रति नकारात्मक संदेश न जाए, इसलिए केजरीवाल सीधे आम लोगों से बात करने का कार्यक्रम शुरू कर रहे हैं। दिल्ली सरकार के मुताबिक टॉक टू AK पीएम मोदी के कार्यक्रम मन की बात जैसा एकतरफा संवाद नहीं बल्कि लोगों के मन की बात जानने का प्लेटफार्म होगा।

आम आदमी पार्टी का सोशल मीडिया में अच्छा खासा दबदबा है और इसीलिए पार्टी के वालंटियर्स सोशल मीडिया पर इस कार्यक्रम के लिए जमकर माहौल बनाने में लगे हैं। केजरीवाल से सवाल के लिए कई सोशल प्लेटफार्म बनाये गए है। वेबसाइट www.talktoak.com के इलावा फेसबुक, यूट्यूब, ट्विटर के साथ साथ लोगो को sms भी भेजे जा रहे है। करीब 19 हज़ार सवाल शनिवार तक सरकार के पास आ चुके हैं, जिसमे से 5 हज़ार सवाल दिल्ली से बाकि और स्टेट से आये। पहले से आए हुए सवालो को चिन्हित किया जायेगा कि कौन सा सवाल लेना हैं।

केजरीवाल के पास कुछ तरह के सवाल आये हैं:

1- अरविन्द आपने जिस तरह से दिल्ली में बिजली-पानी माफ़ किया, क्या पंजाब या जहा आपकी सरकार बनेगी वहा भी इस तरह का प्रयास करेंगे।

2- एसीबी अगर आपको नहीं मिलती तो करप्शन के खिलाफ लड़ाई कैसे जारी रखेंगे।

3- आप बार-बार केंद्रीय सरकार को काम करने में बाधा डालने की बात करते हैं। आपकी तरफ से कितनी बार प्रयास किया गया साझा रूप से काम करने के लिए।

अगर निष्पक्ष तरीके से लोगो की मन की बात सुनी गई तो दिल्ली की बढ़ती समस्याओं पर केजरीवाल खुद भी घिर सकते हैं। विपक्ष के मुताबिक सरकार की कवायद कोरी राजनीति और दिल्ली के साथ धोखा है। मशहूर बॉलीवुड संगीतकार और आम आदमी पार्टी समर्थित विशाल डडलानी इस प्रोग्राम को होस्ट करेंगे। AK के इस शो में गोवा, पंजाब और गुजरात का जिक्र भी खूब होगा। अगर ये प्रोग्राम हिट रहा और अपना असल मकसद हांसिल कर पाया तो हर महीने टॉक टू AK होगा।