Blog single photo

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व सीएम गेगांग अपांग ने बीजेपी से दिया इस्तीफा

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री गेगांग अपांग ने भारतीय जनता पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता और अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री गेगांग अपांग ने बीजेपी से इस्‍तीफा दे दिया है। उन्‍होंने अपना इस्‍तीफा बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह को भेज दिया है। उन्‍होंने इसी के साथ ट्वीट करते हुए लिखा कि बीजेपी को जमीनी स्‍तर पर काम करने की जरूरत है। अपने इस्‍तीफे में उन्‍होंने बीजेपी के दिवंगत नेता अटल बिहारी वाजपेयी को भी याद किया।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (16 जनवरी): अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री गेगांग अपांग ने भारतीय जनता पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता और अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री गेगांग अपांग ने बीजेपी से इस्‍तीफा दे दिया है। उन्‍होंने अपना इस्‍तीफा बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह को भेज दिया है। उन्‍होंने इसी के साथ ट्वीट करते हुए लिखा कि बीजेपी को जमीनी स्‍तर पर काम करने की जरूरत है। अपने इस्‍तीफे में उन्‍होंने बीजेपी के दिवंगत नेता अटल बिहारी वाजपेयी को भी याद किया।

गेगांग ने अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी हमेशा एकता पर विश्‍वास रखते थे। वाजपेयी जी हमारे देश के महान डेमोक्रेट थे। उन्होंने हमेशा मुझे स्वर्णिम सिद्धांत राजधर्म याद दिलाया. आज मैं राजधर्म का ही पालन कर रहा हूं।' गेगांग अपांग सात बार विधायक रहे और 23 साल तक अरुणाचल प्रदेश के मुख्‍यमंत्री रहे।  गेगांग अपांग सबसे पहले साल 1999 से 1980 तक अरुणाचल प्रदेश के सीएम रहे उसके बाद वह साल 2003 से 2007 तक मुख्‍यमंत्री रहे।

नॉर्थ ईस्ट क्षेत्र में बीजेपी के पहले मुख्यमंत्री रहे गेगांग अपांग ने अपने इस्तीफे में कहा, ‘मुझे यह देखकर निराशा हुई कि बीजेपी इस समय स्वर्गीय वाजपेयी जी के सिद्धांतों का पालन नहीं कर रही है। पार्टी अब सत्ता पाने का जरिया बन गई है।’ उन्होंने कहा कि पार्टी ऐसे लोगों के नेतृत्व में काम कर रही है, जो विकेंद्रीकरण या लोकतांत्रिक फैसले नहीं लेते और जिन मूल्यों के लिए पार्टी की स्थापना की गई थी, उन पर विश्वास नहीं करते हैं।

अपांग ने कहा, ‘बीजेपी और केंद्र सरकार सरकारी योजनाओं को आमलोगों तक पहुंचाने के मुद्दे पर नाकाम रही है। नगा शांति वार्ता, चकमा-हाजोंग मुद्दा, नागरिकता बिल, दूरसंचार व वास्तविक समय में डिजिटल कनेक्टिविटी के साथ ही बांग्लादेश, म्यांमार और चीन जैसे पड़ोसियों के साथ शांतिपूर्ण और सौहार्दपूर्ण संबंध स्थापित करने जैसे अहम मुद्दों का समाधान खोजने में मोदी सरकार नाकाम रही है।‘

गेगांग अपांग ने यह भी कहा कि 2014 में अरुणाचल प्रदेश के लोगों ने बीजेपी को सरकार बनाने का जनादेश नहीं दिया था। बीजेपी नेतृत्व ने डर्टी ट्रिक्स का इस्तेमाल कर दिवंगत कलिखो पुल को मुख्यमंत्री बनाया था। उन्होंने कहा, 'सुप्रीम कोर्ट के एक प्रतिकूल फैसले के बावजूद, बीजेपी ने राज्य में सरकार बनाई। पुल की आत्महत्या के मामले में भी उचित जांच नहीं की गई और न ही वर्तमान बीजेपी नेतृत्व ने पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों में सरकार बनाने में नैतिकता का ख्याल रखा।'  अपांग ने कई अन्य मुद्दों को लेकर भी अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है। बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री गेगांग अपांग ने साल 2014 में कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो गए थे। गेगांग अपांग लगभग 22 साल तक अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे थे।

Tags :

NEXT STORY
Top