जेटली ने अमेरिका के सामने उठाया H-1B वीजा का मुद्दा

नई दिल्ली(21 अप्रैल): केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अमेरिका के कॉमर्स सेक्रेटरी विल्बुर रॉस से मुलाकात कर H-1B वीजा का मुद्दा उठाया।


- उन्होंने अमेरिका में अत्यधिक कुशल भारतीय पेशेवरों की ओर से निभाई गई महत्वपूर्ण भूमिका का भी उल्लेख किया।


-  जानकारी के मुताबिक ट्रम्प प्रशासन के तहत दोनों देशों के बीच पहली कैबिनेट स्तर की बातचीत के दौरान, रॉस ने कहा अमेरिका ने एच1बी वीजा मुद्दों की समीक्षा करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है और अभी इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है।


- जेटली ने रॉस को संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत के आर्थिक विकास में अत्यधिक कुशल भारतीयों के योगदान के बारे में बताया और जोर देते हुए कहा कि उन्हें ऐसा करना जारी रखना चाहिए, जो कि दोनों देशों के हित में है।


- वहीं रॉस ने कहा है कि समीक्षा प्रक्रिया के परिणाम जो भी हो ट्रम्प प्रशासन का उद्देश्य एक योग्यता आधारित आव्रजन नीति है जो अत्यधिक कुशल पेशेवरों को प्राथमिकता देती है। इस सप्ताह की शुरुआत में ही ट्रंप के हस्ताक्षर वाला एक कार्यकारी आदेश जारी किया गया है, जिसमें राज्य, श्रम, होमलैंड सुरक्षा और न्याय विभागों की ओर से एच-1बी वीजा की समीक्षा की जानी है।