नोटबंदी के बाद 1100 जगहों पर पड़े छापे, 5400 करोड़ रु कालेधन का हुआ खुलासा- वित्त मंत्री

दिल्ली (2 फरवरी ): वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज लोकसभा में नोटबंदी के मसले पर सांसदों के सवालों का लिखित में जवाब दिया। उन्होने कहा कि 10 दिसंबर के आंकड़ों के मुताबिक 500 और 1000 रुपये के तकरीबन 12.44 लाख करोड़ रुपये RBI के पास वापस आए हैं।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद 9 नवंबर 2016 से 10 जनवरी 2017 के बीच में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट, CBI, ED और तमाम सरकारी एजेंसियों ने मिलकर पूरे देश में करीब 1100 जगहों पर छापे मारे और बैंको में बड़ी रकम जमा होने के मामले में करीब 5100 लोगों को नोटिस भेजे हैं।

साथ ही वित्त मंत्री ने कहा कि इन छापों में कुल 610 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्तियों को पकड़ा गया जिसमें 530 करोड़ रुपये के कैश में बरामद किए गए हैं। वित्त मंत्री के बयान के मुताबिक जो पैसे छापे में बरामद किए गए थे उसमें 110 करोड़ रुपये के नए नोट भी शामिल थे।

अरुण जेटली के मुताबिक 10 जनवरी 2017 तक आयकर विभाग के जांच में 5400 करोड़ रुपये के ऐसे रकम का पता चला है जो अघोषित आय की श्रेणी में आता है।

नोटबंदी की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार की इस इस कोशिश को भ्रष्टाचार, कालाधन, आतंकियों की होने वाली फंडिंग, और नकली नोटों के कारोबार पर लगाम लगाने के संकल्प को पूरा करने की दिशा में एक बड़े कदम के तौर पर देखना चाहिए।

देश से कालेधन को खत्म करने के मुद्दे पर सरकार का पक्ष रखते हुए जटेली ने कहा कि कालेधन की जांच के लिए SIT का गठन, टैक्स एक्ट 2015 को प्रभावी बनाना, और बेनामी संपत्ति एक्ट 1988 को लागू करना कालेधन के खिलाफ सरकार की मंशा और लड़ाई को दिखाता है। सरकार देश के बाहरी और आतंरिक हिस्से से कालेधन को खत्म करके के ही सांस लेगी।