ढाई दिन के CM रह सके बीएस येदियुरप्पा, बहुमत न मिलने से दिया इस्तीफा

नई दिल्ली (19 मई): कर्नाटक में पिछले कई दिनों से जारी सियासी नाटक फिलहाल थमता नजर आ रहा है। बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है। बीजेपी बहुमत का आंकड़ा नहीं जुटा पाई।

येदियुरप्पा केवल ढाई दिन के कर्नाटक के मुख्यमंत्री रहे. उन्होंने कर्नाटक विधानसभा को संबोधित करते हुए कहा कि 'मैं वापस आऊंगा, 150 से ज्यादा सीटें जीतकर आऊंगा। इसके बाद उन्होंने कहा कि बीजेपी के पास बहुमत नहीं है और वो अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंपने जा रहे हैं।

15 मई को आए चुनाव नतीजों के साथ बीजेपी कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी बनी लेकिन वो बहुमत का आंकड़ा छू नहीं सकी। 222 में से बीजेपी को 104 सीटों पर ही जीत मिली. लेकिन राज्यपाल वजूभाई वाला ने साधारण बहुमत से 8 सीटें कम होने के बावजूद बीजेपी के येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री की शपथ दिला दी थी।

राज्यपाल ने येदियुरप्पा को विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए 15 दिनों का वक़्त दिया था। लेकिन इसके ख़िलाफ़ कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया और आधी रात को इस मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। जिसके बाद शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि येदियुरप्पा को 19 मई को शाम चार बजे ही बहुमत साबित करना होगा।

लेकिन फ्लोर टेस्ट से पहले ही  बीएस येदियुरप्पा ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया।