ममता के आरोपों पर सेना ने दिया बयान

नई दिल्ली(2 दिसंबर): ममता बनर्जी के आरोपों को सेना ने खारिज कर दिया है। जवानों की तैनाती को सेना ने रूटीन एक्सरसाइज बताया है।

क्या है पूरा मामला...

- पश्चिम बंगाल के कई जिलों में अचानक सेना की तैनाती का आरोप लगाते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि यह सैन्य तख्तापलट की कोशिश है। गुरुवार देर रात मुख्यमंत्री ममता ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर टोल नाकों पर सेना की तैनाती पर नाराजगी जताई।

- उनका कहना था कि राज्य के सभी टोल टैक्स प्वाइंट्स पर आर्मी के जवानों को तैनात किया जा रहा है। कहा कि ऐसा करने से पहले केंद्र सरकार को राज्य की परमिशन लेने की जरूरत थी।

- ममता ने रातभर सचिवालय में बिताया। गुरुवार रात से ममता बनर्जी अभी तक ऑफिस में हैं, वो घर नहीं गई हैं।

- ममता का कहना है बिना इजाजत के आर्मी को राज्यभर में कई जगह पर तैनात कर दिया गया।

- राज्य सचिवालय के बाहर मिमिट्री जवानों की तैनाती से भी वह नाराज थीं।

- रात 10 बजे के करीब ट्वीट किया कि पुलिस ने आर्मी की तैनाती पर एतराज जताया है। फिर भी इस हाई सिक्युरिटी जोन में मनमानी की जा रही है।

- कहा, ''डेमोक्रेसी की हिफाजत के लिए मैं तब तक अपने ऑफिस से नहीं जाऊंगी जब तक आर्मी हट नहीं जाती।''

- देर रात ममता बनर्जी तब घर गईं जब आर्मी के जवानों को वहां से हटा लिया गया।