अब नहीं बच पाएंगे घर में छुपे आतंकी, सेना कर रही है खास 'रडार' का इस्तेमाल

नई दिल्ली (11 जून ): अब कश्मीर में आतंकियों की खैर नहीं वो भी घर में छुप कर बैठे आतंकियों की। सेना इन आतंकियों से निपटने के लिए एक नई रणनीति बना रही है। एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक सेना सर्च ऑपरेशन के दौरान जिहादियों और आतंकियों को पकड़ने के लिए नई तकनीकि का इस्तेमाल कर रही है।

दीवारों के पीछे या घरों में छिपे आतंकियों को दबोचने के लिए सेना 'थ्रू द वॉल रडार' सिस्टम का इस्तेमाल कर रही है। आतंक-विरोधी अभियान के दौरान छिपे हुए आतंकियों का पता लगाने के लिए इस रडार का सेना मदद ले रही है। 

यह रडार घरों में और दीवार के आरपार एक्सेस करने में भी सक्ष्म है। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि इन रडार सिस्टम को अमेरिका और इजरायल से पहले ही मंगाया जा चुका है।

ये रडार सिस्टम सेना के जवानों को उन आतंकियों की लोकेशन ट्रेस करने में मदद करेंगे, जो अंडरग्राउंड होकर काम करते हैं। अधिकारी ने बताया कि कुछ जवान इन रडार सिस्टम का इस्तेमाल कश्मीर में कर रहे हैं।

बता दें कि सेना को इस तरह के रडार के जरूरत सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन में मिली असफलता के बाद पड़ी। इस ज्वाइंट ऑपरेशन में सेना के जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस घर में छुपे आतंकियों को खोज रही थी। सेना की इंटेलिजेंस एजेंसी को खबर मिली थी कि कुछ जिहादी आतंकी कश्मीर में घरों में छुपकर आतंक फैलाने का काम कर रहे हैं। जिसके बाद से सेना ने यह ज्वाइंट ऑपरेशन शुरू किया था।