ब्रिटेन में मैक्सिमम लेवल का खतरा, प्रमुख जगहों पर सेना तैनात

नई दिल्ली(24 मई): ब्रिटेन में और आतंकी हमले हो सकते हैं। पीएम थेरेसा मे ने मैक्सिमम लेवल के खतरे को देखते हुए गंभीर चेतावनी जारी की है और सिक्युरिटी कड़े करने के इंस्ट्रक्शन दिए हैं।

- देश में सभी प्रमुख जगहों पर आर्मी तैनात की गई है।

- बता दें कि सोमवार रात मैनचेस्टर के स्टेडियम में हुए आतंकी हमले में 22 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 59 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे।

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक पीएम थेरेसा मे ने डाउनिंग स्ट्रीट ऑफिस से मंगलवार रात देश को एड्रेस किया।

-  उन्होंने कहा, "सिक्युरिटी फोर्सेज ने सलमान अब्दी नाम के एक संदिग्ध को अरेस्ट किया है जिसका हमले में हाथ बताया जा रहा है। अब्दी ब्रिटेन का ही रहने वाला है।

- फोर्सेज का कहना है कि उसके साथ और भी लोग जुड़े हो सकते हैं। लिहाजा खतरा अभी बरकरार है। इसलिए अहम जगहों पर आर्मी की तैनाती का कदम उठाया गया है।"

- थेरेसा मे ने कहा, "हालात को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता, ऐसा हो सकता है कि मैनचेस्टर में हुए हमले में किसी बड़े ग्रुप का हाथ हो, जिसमें कई लोग शामिल हों। आतंकी हमले का खतरा बहुत ज्यादा है, इसका मतलब है कि अभी और हमले हो सकते हैं।

- थेरेसा मे ने कहा, "जिस तरह का खतरा हमारे सामने है, उससे निपटने और हमें सुरक्षित रखने के लिए पुलिस को एडीशनल रिर्सोसेज और सपोर्ट की जरूरत है। ज्वाइंट टेररिज्म एनालिसिस सेंटर से चर्चा के बाद पुलिस ने सेक्रेटरी ऑफ स्टेट फॉर डिफेंस से आर्म्ड मिलिट्री पर्सनल्स की तैनाती के बारे में पूछा था, जिसके बाद पुलिस के सपोर्ट में आर्मी की तैनाती का फैसला लिया गया।"

- "पुलिस की ये रिक्वेस्ट ऑपरेशन टेम्परर का हिस्सा थी। ऑपरेशन टेम्परर अब देश में लागू है। इसका मतलब है कि अहम जगहों की सुरक्षा के लिए अब आर्मी जिम्मेदार होगी। आर्मी प्रमुख जगहों की निगरानी बढ़ाने के लिए पुलिस को इंस्ट्रक्शन देगी। खास इवेंट्स या खेलों के दौरान जनता की सुरक्षा के लिए आर्मी की तैनाती से पुलिस को मदद मिलेगी।"

- थेरेसा मे ने कहा, "मैं नहीं चाहती थी कि जनता बिना वजह परेशान और चिंतित हो, लेकिन खतरे को देखते हुए यह एक समझदारी भरा फैसला है।"

- पिछले 10 साल में ऐसा पहली बार है कि ब्रिटेन में आतंकी खतरे का डर हाइएस्ट लेवल पर जताया गया है। पूरे देश में आर्मी के 5 हजार जवानों को तैनात किया गया है।

- बता दें कि ISIS ने मैनचेस्टर हमले की जिम्मेदारी ली है। संगठन ने और हमलों की भी चेतावनी दी है।