हत्या के बाद गाड़ी का नामोनिशान मिटा देना चाहता था मेजर हांडा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 26 जून ): भारतीय सेना के एक मेजर की पत्नी शैलजा द्विवेदी की हत्या के मामले में रोज नए खुलासे हो रहे हैं। आरोपी मेजर हांडा से पुलिस जैसे-जैसे पूछताछ कर रही है वैसे-वैसे उसकी निजी जिंदगी का घिनौना चेहरा सामने आ रहा है। 

जांच अधिकारियों के मुताबिक, हांडा हत्या करने के बाद मेरठ कैंट इसलिए गया, क्योंकि वह तीन साल तक मेरठ में तैनात रह चुका है। वह ऑफिसर मेस में जाकर रुका, उसे लगा कि कैंट एरिया उसके लिए सुरक्षित है, क्योंकि वहां पुलिस नहीं घुस सकती।

पुलिस की गिरफ्त में हांडा ने बताया कि वह अपनी कार के चारों टायर बदलावा चाहता था क्योंकि टायर में खून लगा हुआ थे। इसके अलावा हांडा गाड़ी का नामोनिशान तक मिटा देने की फिराक में था।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक शैलजा द्विवेदी अकेली नहीं थी जिसे गर्लफ्रेंड बनाने के लिए हांडा ने एप्रोच किया था बल्‍कि फेसबुक पर फेक प्रोफाइल बनाकर मेजर हांडा ने कई लड़कियों को प्‍यार के झूठे जाल में फंसा रखा था। 

निखिल हांडा पुलिस की गिरफ्त में है लेकिन ये सवाल बार-बार आ रहा है कि आखिर हांडा कत्ल करने के बाद मेरठ ही क्यों गया। इसे लेकर जांच अधिकारियों का कहना है कि मेजर हांडा बेहद शातिर शख्स है। शनिवार दोपहर उसने पूरी प्लानिंग के साथ शैलजा का कत्ल किया और मौके से भाग गया। इसके बाद वह दोबारा घटना स्थल पर पहुंचा। लेकिन मौके पर पीसीआर को देखकर वह वापस लौट गया।