कोर्ट पहुंची जवान की पत्नी ऋचा सिंह, कोर्ट ने केंद्र और सेना से मांगा जवाब

नई दिल्ली (1 फरवरी): लांस नायक यज्ञ प्रताप की पत्नी सेना के आला अधिकारियों द्वारा ड्यूटी के नाम पर जवानों से बदसलूकी के आरोपों पर इलाहाबाद हाई कोर्ट पहुंच गई। जिसपर कोर्ट ने केंद्र सरकार और सेना को नोटिस जारी करके जवाब मांगा है।

मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस अरुण टंडन और जस्टिस राहुल भार्गव की अगली तारीख 14 फरवरी तय की है। याचिका में जवान की पत्नी ऋचा सिंह ने अधिकारियों के खिलाफ शिकायत की है। आरोप लगाया है कि सेना के सहायक सिस्टम का गलत फायदा उठाकर जवानों के साथ बुरा बर्ताव किया जा रहा है। उनसे कपड़े धुलवाने, बूट पॉलिश करवाने और कुत्ते टहलाने जैसे काम करवाए जा रहे हैं।

ऋचा सिंह ने दावा किया कि उसके पति पर न केवल दबाव बनाया जा रहा है, बल्कि सीनियर उसका उत्पीड़न भी कर रहे हैं। याचिका के मुताबिक, जवान ने उच्च अधिकारियों के खिलाफ आवाज उठाई थी, इसलिए उसे परेशान किया जा रहा है। यह भी आरोप लगाया है कि पति की शिकायत के बावजूद अधिकारियों ने जांच करने के बजाए उसे मानसिक अस्पताल पहुंचा दिया। हाई कोर्ट से दरख्वास्त की गई है कि यज्ञ प्रताप सिंह को मानसिक अस्पताल से डिस्चार्ज किया जाए।