सेना के मोटे अफसरों पर चला आर्मी चीफ का हंटर, ओवर वेट होने पर रुकेगा प्रमोशन

नई दिल्ली (2 अगस्त): भारतीय सेना ने सैनिकों और सैन्य अधिकारियों के मोटापे की बढ़ती समस्या से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। नए दिशानिर्देशों में आर्मी ने कहा है कि ओवरवेट सैन्यकर्मी यूनिफॉर्म में ढीले-ढाले से दिखते हैं और इससे सार्वजनिक रूप से उलझन की स्थिति बनती है। इससे न केवल युद्ध के लिए तैयारी प्रभावित हो रही है, बल्कि ऐसी बीमारियां हो रही हैं, जिनसे बचा जा सकता है। आर्मी चीफ ने कहा है कि अगर किसी सैन्यकर्मी को आइडियल बॉडीवेट से 10 फीसदी से ज्यादा वजनी पाया गया तो प्रमोशन पर असर पड़ सकता है।

इन बीमारियों से लोगों का जीवनकाल छोटा हो रहा है।' आर्मी की हर कमान से 'मोटापे की समस्या पर काबू पाने में मददगार उपायों' के बारे में कॉमेंट देने को कहा गया है। अधिकारी और सैनिक अगर 'ओवरवेट लगे' तो सालाना तौर पर उनके मोटापे की जांच की जाएगी और उनके फोटो उनकी फाइल्स में नत्थी कर दिए जाएंगे। ओवरवेट सैन्यकर्मियों को विदेशी पोस्टिंग्स, करियर बेहतर करने के पाठ्यक्रमों में भाग लेने का मौका या 'ए क्लास' शहरों में तैनाती नहीं दी जाएगी। ओवरवेट लोगों के रीएंप्लॉयमेंट की इजाजत नहीं होगी। आर्मी ओवरवेट अधिकारियों को सार्वजनिक कार्यक्रमों में अवॉर्ड्स लेने से रोकने की योजना भी बना रही है।