वीर अब्दुल हमीद की पत्नी के पैर छूकर आर्मी चीफ ने लिया आशीर्वाद

नई दिल्ली (11 सितंबर): सन् 1965 की जंग में अमेरिका के अजेय समझे जाने वाले पैटन टैंकों को ध्वस्त करने वाले अब्दुल हमीद के 52वें बलिदान दिवस पर गाजीपुर जिले में उनके पैतृक गांव धामपुर में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आर्मी चीफ विपिन रावत ने वहां पहुंचते ही सबसे पहले उनकी पत्नी रसूलन बीवी के पैर छूकर आशीर्वाद लिया। इसके बाद उन्होंने रसूलन बीवी को सम्मानित किया। गाजीपुर में वीर अब्दुल हमीद के गांव में पहली बार देश के सेनाध्यक्ष पहुंचने पर युवाओं ने उनका जोरदार स्वागत किया गया।

सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने इसके बाद मीडिया से कहा, 'अब्दुल हमीद के बलिदान दिवस समारोह में शामिल होने का मौका मिलने पर अपने आपको धन्य महसूस कर रहा हूं। गाजीपुर की यह भूमि धन्य है जिसने इस बहादुर नौजवान को जन्म दिया। शहीद वीर अब्दुल हमीद की जो शहादत है इसको हम विफल नहीं होने देंगे।