ख़तरे के 68 दिन? क्या कल से शुरू हो रहा है दुनिया के लिए अशुभ समय?

नई दिल्ली (19 अप्रैल) :  क्या इस साल 20 अप्रैल से 26 जून तक का समय दुनिया के लिए बहुत अनिष्टकारी है?  क्या इस दौरान दुनिया को प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं का सामना करना पड़ सकता है?  ज्योतिष विज्ञान की मानें तो इन 68 दिनों में मंगल और शनि की उल्टी चाल से सुनामी और भूकंप जैसे ख़तरों की संभावना है।

बता दें कि ये पहली बार नहीं है जब दुनिया के लिए इस तरह के ख़तरों की भविष्यवाणियां की गई हैं। देश-विदेश में इस तरह की कई भविष्यवाणियां पहले भी की गईं। यहां तक की भारी तबाही की तारीख भी तय कर दी गईं लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।  

एक न्यूज़ वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार इस बार ज्योतिषी ख़तरा इसलिए भी बड़ा बता रहे हैं क्योंकि आकाश मंडल में गुरु चांडाल योग पहले ही 21 फरवरी से 28 जुलाई तक बना हुआ है। ऐसे में 20 अप्रैल से 26 जून के बीच एक साथ छह ग्रहों की उल्टी चाल से दुनिया की परेशानी बढ़ सकती है। भविष्यवाणी के मुताबिक इस दौरान शनि और मंगल वक्री हो जाएंगे। इस खगोलीय घटना से दुनिया भर में अशुभ घटनाएं घट सकती हैं।