यह लैपटॉप ना होता तो चली जाती व्यक्ति की जान, जानिए पूरी कहानी

चेन्नई ( 12 जनवरी ): एक व्यक्ति के पास अगर लैपटाप ने होता तो उसकी जान चली जाती। आई जानते हैं क्या है पूरा माजरा। फ्लोरिडा के ब्रोवार्ड काउंटी में फोर्ट लॉडरडेल-हॉलीवुड इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर 6 जनवरी 2017 को सामूहिक गोलीबारी हुई। हमले में पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि छह अन्य घायल हो गए। वहीं, दहशत के कारण हुई भगदड़ में कुल 36 लोग घायल हो गए।

संदिग्ध की पहचना अलास्का मूल के निवासी एस्टीबन सैंटियागो-रुइज के रूप में हुई है। पुलिस अधिकारियों ने सामने समर्पण करने के बाद उसे हिरासत में ले लिया गया था।

स्टीव फ्रैपियर ने बताया कि अफरा-तफरी के बीच जब वह भाग रहे थे। जान बचाने के लिए वह जमीन पर लेट रहे थे, तभी एक गोली उनकी ओर चली। मगर, उनके बैग में रखे एपल मैकबुक प्रो ने उसे रोक लिया और इस तरह से मेरी जान बच गई।

स्टीव ने कहा लैपटॉप मेरी पीठ की ओर था और गोलीबारी से बचने के लिए मैं जमीन पर लेट गया था। सौभाग्य से बैग में रखे मैकबुक प्रो ने में गोली लगकर छिटक गई और वह मेरे शरीर में नहीं लगी।