एप्पल और गूगल को सरकार का झटका, अब आधार कार्ड करे अनिवार्य

नई दिल्ली (14 सितंबर): आधार कॉर्ड को देश के सभी लोगों के बीच पहुंचाने व सही जानकारी जुटाने के लिए केंद्र सरकार ने एप्पल और गूगल को तकनीकी आधार पर इसका इस्तेमाल करने को कहा है।

फिलहाल करोड़ों भारतीयों को आधार कार्ड के जरिए बैंकिंग समेत तमाम सरकारी और गैर-सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। इस कोशिश से जुड़े बिना इन कंपनियों के लिए भारत के तेजी से बढ़ते बाजार में अपनी पैठ बनाना मुश्किल होगा। लेकिन एप्पल और गूगल जैसी कंपनियां अपने फोन और ऑपरेटिंग सिस्टम में इंडियन रजिस्ट्रेशन, एन्क्रिप्शन यानी कोडिंग और सुरक्षा तकनीक के इस्तेमाल से बचने की कोशिश में हैं।

कुछ सप्ताह पहले ही सरकारी अधिकारियों ने एप्पल इंक, माइक्रोसॉफ्ट, सैमसंग और गूगल की पैरंट कंपनी अल्फाबेट इंक के एग्जिक्यूटिव्स को बुलाकर मीटिंग की थी। इस दौरान अधिकारियों ने कंपनियों के प्रतिनिधियों से उनकी टेक्नॉलजी में आधार के कोडिंग को शामिल करने को लेकर चर्चा की।

यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया के संचालक अजय भूषण पांडे ने कहा कि इंडस्ट्री के लोगों ने विनम्रता से पूरी बात को सुना, लेकिन किसी तरह का वादा नहीं किया। हमने कंपनियों के एग्जिक्यूटिव्स से कहा, 'अपने मुख्यालय जाइए और इस मामले पर काम कीजिए। ताकि हमारे पास आधार रजिस्टर्ड डिवाइसेज हो सकें।'