iPhone अनलॉकिंग में FBI की मदद के 'कोर्ट ऑर्डर' का एप्पल ने किया विरोध

नई दिल्ली (17 फरवरी): प्रतिष्ठित मोबाइल कंपनी एप्पल आईएनसी के चीफ एक्ज़ीक्यूटिव टिम कुक ने कहा है कि उन्होंने एक अमेरिकी जज की उस मांग का विरोध किया है। जिसमें सैन बर्नार्डिनो में गोलीबारी करने वाले शख्स से बरामद आईफोन को एफबीआई की मदद के नाम पर अनलॉक करने के लिए कहा गया था। 

न्यूज एजेंसी 'रायटर्स' की रिपोर्ट के मुताबिक, कुक ने कहा कि इस मांग से एप्पल के ग्राहकों की सिक्योरिटी पर खतरा था। इसके अलावा, इसके परिणाम कानूनी पचड़ों से भी ज्यादा साबित होते। अमेरिका में लॉस एंजेलिस के डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के जज शेरी पाइन ने मंगलवार को कहा कि "एप्पल को जांचकर्ताओं को जरूरी तकनीकी सहयोग देना चाहिए।" जिससे आईफोन 5सी से डेटा को अनलॉक किया जा सके। यह फोन हमलावर सईद रिज़वान फारूक का था।

एप्पल ग्राहकों के लिए लिखी चिट्ठी में कुक ने कहा कि एफबीआई ने कंपनी से आईफोन में एक बैकडोर बनाने के लिए कहा था। कुक ने कहा, "सरकार एप्पल से अपने यूजर्स को हैक करने के लिए कह रही है। साथ ही दशकों के सिक्योरिटी एडवांसमेंट्स को दरकिनार करने के लिए कह रही है। जिससे हमारे कस्टमर्स को सुरक्षा मिलती है। जिनमें करोड़ों अमेरिकी नागरिक हैं। जिसमें आधुनिक हैकर्स और साइबर क्रिमिनल्स भी शामिल हैं।"  

उन्होंने कहा, "हमने ऐसा कोई उदाहरण नहीं देखा जिसमें एक अमेरिकी कंपनी को अपने ग्राहकों को बड़े हमले के लिए संभावना से जोड़ दिया जाए।"