एक और सरबजीत : पाकिस्तान की जेल में किरणपाल की हुई संदिग्ध मौत

नई दिल्ली (12 अप्रैल) : पाकिस्तान की जेल में एक और भारतीय की संदिग्ध मौत हुई है। इस कैदी का नाम किरपाल सिंह है। किरपाल सिंह सरबजीत के साथ कोट लखपत जेल में बंद थे। मौत की खबर से अमृतसर के उनके घर में मातम फैला है। अब परिजनों ने किरणपाल के पार्थिक शरीर को जल्द भारत लाने की मांग की है।

बता दें कि किरपाल सिंह उसी कोटलखपत जेल में बंद थे जिसमें सरबजीत की मौत हुई थी। चौबीस साल से अपने भाई का इंतजार कर रही बहन जागीर कौर अब अपने भाई का शव मांग रही हैं। किरपाल सिंह (50) साल 1992 में भटककर वाघा बॉर्डर पार कर पाकिस्तान चले गए थे। तब उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। 

बाद में उन्हें पंजाब प्रांत में बम विस्फोट के आरोप में मौत की सजा सुनाई गई थी। हालांकि कहा जाता है कि लाहौर हाईकोर्ट ने उऩको इस मामले में बरी कर दिया था, लेकिन फिर भी वो पाकिस्तान की जेल में ही बंद थे। अब कोट लोखपत जेल प्रशासन का दावा है कि सेल में किरपाल सिंह का शव मिला। उनके शव को जिन्ना अस्पताल में पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।

गौरतलब है कि इससे पहले  2013 में कोटलखपत जेल में ही सरबजीत की मौत हुई थी। सरबजीत पर कैदियों ने हमला किया था। बाद में सरबजीत का शव भारत में उनके परिवार को सौंपा गया था। अब किरपाल के परिवार को भी इंतजार है कि उनके भाई का शव उन्हें कब सौंपा जाएगा।