बीफ विवाद: भाजपा नेता का इस्तीफा, बीफ फेस्टिवल में होंगे शामिल

नई दिल्ली ( 6 जून ): नए पशु वध कानून को लेकर बढ़ता जा रहा है। अब इसके विरोध में मेघालय के भाजपा के एक और नेता ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।

मेघालय के नॉर्थ गारो हिल्स जिले के भाजपा अध्यक्ष बाचू मराक ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बाचू का इस्तीफा उस वक्त हुआ है जब चार सप्ताह पहले वेस्ट गारो हिल्स के जिला अध्यक्ष बर्नार्डर मराक ने इसी मुद्दे पर पार्टी छोड़ दी थी। मराक के बीफ फेस्टिवल में भी शामिल होने की संभावना है।

बीती रात भाजपा से इस्तीफा देने के बाद बाचू ने कहा, 'मैं गारो के लोगों की भावनाओं को लेकर समझौता नहीं कर सकता। एक गारो के तौर पर यह मेरी जिम्मेदारी है कि मैं अपने समुदाय के हित की रक्षा करूं। बीफ खाना हमारी संस्कृति और परंपरा का हिस्सा है। हम पर भाजपा की गैरकानूनी विचारधारा थोपना स्वीकार नहीं है।'

उन्होंने पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष शिबुन लिंगदोह को अपना इस्तीफा सौंपा है। हाल ही में मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने के मौके पर बाचू ने गारो हिल्स में बिची (चावल की बीयर) और बीफ पार्टी का प्रस्ताव दिया था जिसको लेकर पार्टी के नेतृत्व ने आलोचना की थी।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता नलिन कोहली ने बाचू के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी थी। बाद में बाचू ने फेसबुक पर अपने इस्तीफे की घोषणा करते हुए कहा था, 'मेरी परंपरा और संस्कृति मेरी पहली प्राथमिकता है और पार्टी सबसे बाद में है।