भारत का पाकिस्तान को करारा जवाब, अब हर साल रूस के साथ होगी मिलिट्री मीटिंग

नई दिल्ली (15 अक्टूबर): गोवा में हो रहे आठवें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भारत और रूस के बीच 16 समझौते हुए। लेकिन दोनों देशों के बीच जो सबसे बड़ा समझौता हुआ, वह चीन और पाकिस्तान को परेशान कर सकता है।

दोनों देशों के बीच एक वार्षिक सैन्य औद्योगिक कांफ्रेंस होगी जोकि दोनों पक्षों पर हितधारकों संस्थान और सहयोग करने की अनुमति देगा।

दोनों देशों के बीच हुए यह अहम समझौते: - भारत और रूस के बीच एनर्जी, ट्रैफिक और स्मार्ट सिटी से सम्बन्धित अहम समझौतों पर हस्तारक्षर हुए। - भारत और रूस के बीच हुए गैस पाइप लाइन, हरियाणा में स्मार्ट सिटी और जहाज निर्माण जैसे कई महत्वपूर्ण समझौते हुए। - भारत और रूस ने Ka-226T हेलिकॉप्टर्स के जॉइंट प्रॉडक्शन के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए। - भारत और रूस के बीच एनर्जी, इंफ्रास्ट्रक्चर और रेलवे से सम्बन्धित कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर। - भारत-रूस के बीच 200 मिलिटरी हेलिकॉप्टर कामोव पर करार।

पीएम मोदी ने कहा: - पीएम मोदी ने कहा रूसी कहावत का उल्लेख कहते हुए कहा- एक पुराना दोस्त दो नए दोस्तों से बेहतर है। - भारत और रिश्ता सचमुच अनोखा है। रूस 'मेक इन इंडिया' को सफल बनाने में भी हमारी मदद कर रहा है। - भविष्य को ध्यान में रखते हुए हमने सायेंस ऐंड टेक्नॉलजी कमिशन बनाने पर सहमति जताई है। - भारत और रूस ने आर्थिक रिश्तों को बेहतर बनाना जारी रखा है। दोनों देशों के बीच बिजनस और इंडस्ट्री आज ज्यादा मजबूत है। - पीएम मोदी ने रूसी भाषा में कहा, भारत और रूस का भविष्य उज्ज्वल है। - जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के लिए भारत और रूस का स्टैंड एक जैसा ही है।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने कहा: - रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने कहा कि भारत और देश के बीच व्यापारिक सम्बन्ध बेहतर हो रहे हैं। - दोनों देशों की कंपनियां औद्योगिक, सैन्य और तकनीकी सहयोग बढ़ा रही हैं।