23 मार्च से अन्ना करेंगे आंदोलन, कहा- 'मांगें नहीं मानी तो त्याग दूंगा प्राण'

नई दिल्ली (25 दिसंबर): समाजसेवी अन्ना हजारे नगर पालिका मैदान में भाकियू असली के किसान सम्मेलन में पहुंचे, जहां पर वह केंद्र सरकार पर जमकर बरसे। उन्होंने केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ 23 मार्च से दिल्ली में आंदोलन करने का एलान किया। अन्ना हजारे ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सरकार ने बातें नहीं मानीं तो आंदोलन में प्राण त्याग दूंगा।

अन्ना ने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए उसके खिलाफ आगामी 23 मार्च को दिल्ली में अनशन करने तथा जेल भरो आंदोलन चलाने का ऐलान किया। अन्ना हजारे ने उत्तर प्रदेश के सम्भल में नगर पालिका मैदान पर भारतीय किसान यूनियन की 'राष्ट्रीय किसान महापंचायत में कहा कि आज देश का किसान बदहाल है। देश में किसानों द्वारा आत्म हत्या के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार है। सरकार ने किसानों के प्रति कल्याणकारी स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू नहीं की। केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को उन्होंने कई बार पत्र भी लिखे लेकिन कुछ नहीं हुआ।'