पुलिस के लिए मेरी सुरक्षा से ज्यादा मोबाइल पर बातें जरूरी हैः अन्ना हजारे

 

मुंबई(7 मार्च): समाजसेवी अन्ना हजारे ने आरोप लगाया है कि उनकी सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मी मोबाइल फोन में बिजी रहते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार को उनकी सुरक्षा और पुख्ता करने की जरूरत नहीं है। बता दें अन्ना को जेड श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है। 

अन्ना हजारे ने कहा कि मेरा भारत-पाक युद्ध के दौरान खेमकरन सेक्टर में मौत से सामना हुआ था। मुझे जो मिला वह बोनस है। मैं देश और समाज की अंतिम सांस तक सेवा करूंगा।

अन्ना हजारे ने कहा कि उनके छोटे से गांव रालेगण सिद्धी 9 अंगरक्षकों और 28 पुलिसकर्मियों को रखना कतई आसान नहीं है। कई बार ऐसा होता है कि जब वह सुबह योग करते हैं तो उनके सुरक्षाकर्मी या तो वहां होते नहीं हैं या देर से आते हैं।

हजारे ने कहा कि वे अपने मोबाइल फोन या चैटिंग में व्यस्त रहते हैं। अगर कोई अंदर आकर मुझे मार दे तो उन्हें एहसास तक नहीं होगा। हजारे को पिछले वर्ष कई धमकी भरे पत्र मिलने के बाद सरकार ने उनकी सुरक्षा बढ़ा दी थी।