अजित पवार की बढ़ सकती है मुश्किलें, अन्ना हजारे ने चीनी सहकारी उद्योग घोटाले पर की CBI जांच की मांग

नई दिल्ली (4 जनवरी): सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर कर‘25 हजार करोड़ रुपये के चीनी सहकारी उद्योग घोटाले’ की CBI जांच की मांग की है। हजारे ने CBI जांच की मांग करते हुए दो दीवानी जनहित याचिकाएं और एक फौजदारी जनहित याचिका दायर की है। याचिकाओं में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार और उनके भतीजे व राज्य के पूर्व सिंचाई मंत्री अजित पवार के नाम प्रतिवादी के तौर पर शामिल किए गए हैं।

फौजदारी जनहित याचिका पर 6 जनवरी को न्यायमूर्ति अभय ओका की अध्यक्षता वाली पीठ के सामने सुनवाई होने की संभावना है। याचिकाओं में आरोप लगाया गया कि चीनी सहकारी उद्योगों पर पहले ऋण लादकर और फिर इसकी इकाइयों को मामूली दामों पर बेचकर शासन में धोखाधड़ी की गई जिससे सरकार, सहकारी क्षेत्र एवं लोगों को 25 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।