फर्जी डिग्री केस: DUSU अध्यक्ष अंकिव बैसोया को ABVP ने निकाला, पद से भी इस्तीफा देने को कहा

                                                      अंकिव बैसोया (फोटो- फेसबुक)

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (15 नवंबर): दिल्ली यूनिवर्सिटी (DU) छात्रसंघ अध्यक्ष अंकिव बैसोया को एबीवीपी ने संगठन से निकाल दिया है। ABVP ने अंकिव को उनकी डिग्री को लेकर चल रही जांच पूरी होने तक पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। वहीं संगठन ने अंकिव बैसोया से डूसू अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के लिए कहा है। आपको बता दें कि NSUI ने ABVP से डूसू के अध्यक्ष बने अंकिव बैसोया की डिग्री पर सवाल खड़े किए थे। नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI) ने उन पर फर्जी डिग्री के जरिए डीयू में एडमिशन लेने का आरोप लगाया था।

इस आरोप पर अपनी सफाई में अंकिव ने कहा था कि एनएसयूआई वक्त बर्बाद करने के लिए ऐसे अनर्गल आरोप लगा रही है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने एक बयान जारी कर कहा है, 'फेक डिग्री मामले पर हमने DUSU के अध्यक्ष अंकिव बैसोया को पद से इस्तीफा देने के लिए कहा है और जांच खत्म होने तक संगठन की सभी जिम्मेदारियों से उन्हें निष्कासित कर दिया है।' अंकिव ने जिस डिग्री का इस्तेमाल कर डीयू में दाखिला लिया था वह उस यूनिवर्सिटी की है ही नहीं। तमिलनाडु के विश्वविद्यालय ने राज्य सरकार से कहा है कि डूसू के अध्यक्ष अंकिव बसोया उनके छात्र नहीं रहे हैं। 

वहीं इस मामले में NSUI ने कहा कि ABVP का दोहरा चरित्र सामने आ चुका है, ये फैसला प्रेशर में लिया गया है, ABVP दो महीने का वक़्त निकालना चाहती है जकसके बाद डूसू के वाइस प्रेजिडेंट को ही आक्टिंगप्रेसिडेंट घोषित कर दिया जाएगा। जो कि ABVP का ही है। 

अंकिव बसोया ने हाल ही में हुए दिल्ली विश्विविद्यालय छात्रसंघ चुनावों में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के बैनर तले अध्यक्ष पद का चुनाव जीता था। एबीवीपी ने डूसू चुनाव में चार में से तीन पदों पर जीत हासिल की जबकि एनएसयूआई के खाते में एक सीट (सचिव ) गई थी।