अनिल दवे पंचतत्व में विलीन, अंतिम विदाई देने सीएम शिवराज समेत कई नेता पहुंचे


भोपाल(19 मई): केंद्रीय मंत्री अनिल माधव दवे का शुक्रवार को मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। गुरुवार को दिल का दौरा पड़ने से 61 साल की उम्र में उनका निधन हो गया था। दिल्ली के एम्स में उन्होंने अंतिम सांस ली।


- दवे का अंतिम संस्कार में शिवराज सिंह चौहान, बीजेपी के स्टेट प्रेसिडेंट नंदकुमार सिंह चौहान समेत केंद्रीय मंत्री उमा भारती, नरेंद्र सिंह तोमर, डॉ. हर्षवर्धन, अनंत कुमार, कैलाश विजयवर्गीय, नरोत्तम मिश्रा, भैयाजी जोशी, रामलाल, गोपाल भार्गव, जयभान सिंह पवैया, लालसिंह आर्य, गौरीशंकर शेजवार, प्रहलाद पटेल और संजय जोशी समेत बड़ी तादाद में भाजपा नेता मौजूद थे।


- मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद दवे को जुलाई 2016 को केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री बनाया गया था।


- दवे ने निधन से 5 साल पहले 23 जुलाई 2012 को ही अपनी वसीयत लिख दी थी।


- इसमें उन्होंने अपना अंतिम संस्कार होशंगाबाद जिले के बांद्राभान में नर्मदा नदी के तट पर करने की मंशा जाहिर की थी।


- वे यह भी चाहते थे कि उनकी याद में पौधे लगाए जाएं और पानी को बचाने के लिए काम किया जाए।


- उन्होंने लिखा था, "मेरी स्मृति में कोई स्मारक, प्रतियोगिता, पुरस्कार और प्रतिमा स्थापन न हों। मेरी स्मृति में अगर कोई कुछ करना चाहता है तो वो वृक्षों को लगाए और उन्हें संरक्षित करके बड़ा करे तो मुझे बड़ा आनंद होगा। वैसे ही नदियों एवं जलाशयों के संरक्षण में भी अधिकतम प्रयत्न किए जा सकते हैं।"