मोदी सरकार की सेना को खुली छूट, आतंकियों को खोजो और मारो

नई दिल्ली (13 जुलाई): जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले को लेकर मोदी सरकार ने आतंकियों से निपटने के लिए नया एक्शन प्लान बनाया है। सूत्रों से अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी सुरक्षा अधिकारियों को साफ निर्देश दे दिए हैं कि आतंकियों को खोजो और मारो।

कश्मीर में सेना के ‘खोजो और मारो’ अभियान आतंक के ताबूत की आखिरी कील साबित होगा। घाटी में सर्दियों से पहले आतंक के सफाए में जुटी सेना को केंद्र सरकार से अभियान तेज़ करने के लिए हरी झंडी मिल गई है।

- आईबी ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को घाटी में सक्रिय 68 आतंकियों की लिस्ट सौंपी है।

- सुरक्षा एजेंसियों की हिट लिस्ट में सबसे ऊपर कश्मीर घाटी में छिपे यही 68 आतंकवादी हैं।

- कुल 115 विदेशी आतंकवादियों को सुरक्षा एजेंसियों ने चिन्हित किया है।

- आतंकियों की लिस्ट लेकर खुद सेना प्रमुख बिपिन रावत कश्मीर में हैं।

- इस मामले को लेकर सेना प्रमुख ने डीजी सीआरपीफ, चिनार कॉर्प्स कमांडर, चीफ सेक्रेट्री और जम्मू-कश्मीर के डीजीपी से बात की है।

- आतंकियों के सफाये को लेकर बिपिन रावत ने सीधे तौर पर निर्देश दे दिए हैं।

- आतंकियों के गढ़ माने जाने वाले दक्षिणी कश्मीर में सेना जल्द ही बड़ा अभियान छेड़ेगी।

- सरकार की कोशिश आतंकियों के सफाए के साथ साथ जम्मू-कश्मीर के युवाओं को संदेश देने की भी है।

- सरकार चाहती है कि ये संदेश जाए की बंदूक के साथ का अंत गोली से ही होता है।

- घाटी में आतंक के सफाए के अभियान में जनवरी से लेकर अब तक 98 आतंकी मारे जा चुके हैं और अब आतंक के पूरी तरह खात्मे के लिए अभियान शुरू हो चुका है।